बड़ी खबरें

गिद्धौर में कलश यात्रा के साथ शुरू हुई त्रिरात्रि रामधुनी महायज्ञ, भक्ति रस में डूबे लोग


न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा】 :-

गिद्धौर प्रखंड के ऐतिहासिक मां बूढ़ी मंदिर के प्रांगण में मंगलवार से तीन रात्रि श्री श्री 108 श्री श्री रामधूनी महायज्ञ अनुष्ठान कलश यात्रा के साथ शुरू हो गया।  19 मार्च तक चलने वाले इस अनुष्ठान में गिद्धौर प्रखंड भर के दर्जनभर से भी अधिक गांव के राम भक्त कीर्तन मंडली भाग लेंगे।  

गिद्धौऱ-जमुई मुख्यमार्ग पर कलश यात्रा के साथ प्रचार वाहन

इस अनुष्ठान को लेकर मंगलवार की सुबह क्षेत्र के ग्रामीणों द्वारा भव्य कलश शोभा यात्रा निकाली गयी, जिसमें कुंआरी कन्याओं ने कलश शोभा यात्रा में बढ़-चढ़कर भाग लिया। यह कलश शोभा यात्रा पतसंडा स्थित बूढ़ी नाथ मंदिर प्रांगण से शुरू होकर दुर्गा मंदिर घाट से उलाई नदी का पवित्र जल एकत्रित कर होते हुए क्षेत्र का भ्रमण कर पुनः यज्ञ स्थल तक पहुंची। इस दौरान महायज्ञ को लेकर कलश यात्रा में भाग ले रही कन्याओं द्वारा कई भक्ति नारों के साथ माहौल को भक्तिमय बनाते हुये धर्मं एवं सद्कर्म के मार्ग पर चलने का संदेश दिया।

कलश लेकर जाते श्रद्धालुओं का जत्था

वहीं, इस अनुष्ठान को लेकर लाल पताके के साथ पूरे गिद्धौर में कलश यात्रा का विहंगम दृश्य देख गया, जिससे इस तीन दिवसीय महायज्ञ को लेकर ग्रामीण काफी उत्साहित नजर आ रहे हैं। इधर, आयोजन समिति के सदस्यों ने जानकारी देते हुए बताया कि, यज्ञ को पुरी नियम-निष्ठा एवं वेद-मंत्रोच्चारण के साथ सम्पन्न कराने को लेकर पूरी तैयारियां की गई है।  वहीं, मंगलवार की सुबह निकले कलश यात्रा में ग्रामीण महिला-पुरुष व सैंकड़ों कुंवारी कन्याओं के साथ आयोजन समिति के दर्जनों सदस्य मौजूद रहे।

No comments