बड़ी खबरें

सिमुलतला के स्कूल हुए अनलॉक, शर्तो के साथ होगी पढ़ाई

Gidhaur.com  | Simultala (मुकेश कुमार सिंह) :-

पूरे जिले के साथ साथ  सिमुलतला क्षेत्र के सभी सरकारी एवं गैर सरकारी विद्यालयों में वर्ग छः से आठ तक के बच्चो के लिए सरकार द्वारा वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को ध्यान में रखते हुवे  विभागीय गाइड लाइन के सभी शर्तो का पालन के आधार पर खोला गया है।


एक लंबे अरसे के बाद विद्यालय खुलने एवं सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन की वस्तु स्थिति की जानकारी के लिए मीडिया टीम  ने टेलवा बाजार संकुल क्षेत्र के कुल चार विद्यालयों का निरीक्षण के लिए गए, जिसमे दोपहर 12:04 बजे मध्य विद्यालय टेलवा बाजार में देखा गया कि चार शिक्षिकाएं विद्यालय परिसर खुले आसमान के जमीन पर देरी पर कुछ छात्र छात्राओं को जमीन पर बिना मास्क के बैठाकर धूप सैंक रही थी, दो शिक्षक बरामदे पर मोबाइल छेड़ रहे थे प्रधानाध्यापक अपने कार्यालय में बैठे थे, प्रधानाध्यापक दिलीप कुमार से बच्चो के बीच मास्क वितरण की जानकारी पूछने पर उन्होंने कहा कि मास्क जीविका समूह के दीदी अभी तक नहीं दीया है इसलिए बच्चो के बीच मास्क वितरण नहीं किया गया है, उक्त विद्यालय में कुल 800 बच्चे नामांकित है, जिसमे आज 150 बच्चे उपस्थित मिले, कुल 11 शिक्षक शिक्षिकाओं में सभी उपस्थित थे,शैचालय भी साफ मिले। 12:20 बजे उत्क्रमित मध्यविद्यालय गादी टेलवा में देखा गया कि तीन शिक्षकों के साथ कुल 36 बच्चे विद्यालय में उपस्थित थे, एक वर्ग कक्ष में सभी बच्चो को एक शिक्षक बिना मास्क एवं समाजिक दूरी के पढ़ा रहे थे।

उक्त विद्यालयों में कुल 149 बच्चे नामांकित है। प्रधानाध्यापक ओमप्रकाश कुमार अपने कार्यालय में एक सहायक शिक्षक से साथ बैठे थे, शौचालय काफी दिनों से बंद पड़ा था फिलहाल साफ सफाई नहीं किया गया था। मास्क के बारे में उन्होंने कहा कि जीविका दीदी द्वारा आज जानकारी दिया गया है मास्क मिलते ही बच्चो के बीच वितरण कर दिया जाएगा। 12:35 बजे उत्क्रमित मध्यविद्यालय नावाडीह ,घांसीतरी में आठ बच्चो के साथ तीन शिक्षक उपस्थित मिले, सभी बच्चे मास्क पहने हुए थे, जो बच्चे अपने घर से पहन कर आये थे। विद्यालय द्वारा मास्क वितरण नहीं किया गया था, उक्त विद्यालय में कुल 120 बच्चो का नामांकन है। वहीं उत्क्रमित मध्यविद्यालय चरैया में मात्र दो शिक्षक ही उपस्थित मिले एवं भी बच्चे विद्यालय पहुंचे थे, उक्त विद्यालय के प्रधानाध्यापक से बच्चे अनुस्थित रहने, मास्क वितरण एवं साफ सफाई नहीं होने के कारण की जानने  कोशिश किया गया तो वो मीडिया टीम पर ही भड़क गए और कहने लगे कि बच्चे नहीं आया तो क्या घर से लाये मुझे उतना फुर्सत नहीं है, मास्क वितरण कौन करेगा मुझे पता नहीं जीविका समूह का दीदी कौन है ये भी पता नहीं है, साफ सफाई करने के लिए रशोइया से कहा गया था उसने नहीं किया। शौचालय की फोटो लेने की कौशिश किया गया तो उन्होंने मना कर दिया, क्योंकि शौचालय में गंदगी फैली हुई थी। हालांकि जो भी हो सरकार द्वारा दिए गए गाइडलाइन का सरकारी विद्यालयों में धज्जियां उड़ाते देखा गया, और जिम्मेदार बेपरवाह बने हुए है। इस सन्दर्भ में जिला शिक्षा पदाधिकारी रवि कुमार ने बताया कि मैं खुद कल सिमुलतला पहुंच कर जांच करूंगा और दोषी मिलने पर कार्रवाई होगी। 


Edited by : Abhishek Kr. Jha


#Simultala, #Education, #GidhaurDotCom

No comments