Header Ad

header ads

जमुई : सदर अस्पताल में मीडिया कार्यशाला आयोजित, मिशन परिवार विकास के लिए मांगा सहयोग

 

Jamui/ जमुई(न्यूज़ डेस्क) :- सेन्टर फ़ॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च और केयर इंडिया के सहयोग से सदर अस्पताल के सभागार कक्ष में जिला स्वास्थ्य समिति द्वारा एक दिवसीय मिडिया कार्यशाला का आयोजन किया गया।  

कार्यक्रम की शुरुआत उपस्थित सिविल सर्जन डॉ. विजयेंद्र सत्यार्थी, अस्पताल उपाधीक्षक डॉ. सैयद नौशाद अहमद, अवर-मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. रमेश प्रसाद, जिला कार्यक्रम प्रबंधक सुधांशु नारायण लाल, केयर इंडिया जिला टीम लीडर संजय कुमार सिंह और जिला एपीडेमियोलोजिस्ट शमीम अख्तर ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया। कार्यक्रम के दौरान डिविजनल कोर्डिनेटर शिव शंकर ने सभी आगन्तुकों का स्वागत कर मिडिया कार्यशाला के उद्देश्यों पर चर्चा की। इसके साथ ही केयर इंडिया के जिला टीम लीडर संजय कुमार सिंह को पावर प्वाइन्ट प्रेजेंटेशन के माध्यम से परिवार नियोजन के तकनीकी पक्ष हेतु आमंत्रित किया।

जिसके बाद उन्होंने जिले में विगत कुछ वर्षों से विभिन्न उपायों के अपनाये जाने से परिवार नियोजन में आई जागरूकता के बारे में जिक्र करते हुए इसे अच्छा संकेत बताया। वहीं, 

मीडियाकर्मियों के सवाल पर सीएस डॉ. सत्यार्थी ने बताया कि मौके पर सदर अस्पताल एवं चकाई रेफरल अस्पताल में परिवार नियोजन परामर्शदाता हैं और बहुत शीघ्र अन्य स्थानों पर भी नियुक्ति होना है। इसके साथ ही अपने मीडिया साथियों से परिवार नियोजन पर जागरूकता हेतु आर्टिकल प्रकाशित करने को प्रेरित किया। 




प्रतिदिन हो रही है मोनिटरिंग :




 मिशन परिवार विकास के बारे में बताते हुए सुधांशु नारायण लाल ने कहा कि परिवार नियोजन के लक्ष्यों की प्राप्ति हेतु जिले के सभी दस प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और सदर अस्पताल में विशेष टीम द्वारा प्रतिदिन कार्यों को निष्पादित किया जा रहा है । जिसकी माॅनिटरिंग सिविल सर्जन की अध्यक्षता में दैनिक तौर पर किया जाता है। उन्होंने पत्रकारों को बताया कि परिवार नियोजन के मूल अवधारणा को लागू करने के लिए विभाग द्वारा राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम वर्ष 2014 से ही चलाया जा रहा है और सभी प्रखंड में युवा क्लिनिक की भी शुरुआत हुई है, जहाँ किशोर एवं किशोरियों कोर नियोजित परिवार के महत्व और उसकी शुरुआत स्वयं से के सिद्धांत पर परामर्श और संदर्भण सेवा को अंजाम दिया जा रहा है।

जिला एपिडीओमोलोजिस्ट, शमीम अख्तर ने परिवार नियोजन में पुरुषों की भागीदारी को बढाने के बारे में चर्चा किया और छोटे-छोटे समूहों या वन टू वन में बातें करने की पहल पर आगे आने के लिए मीडिया जनों से सहयोग की अपेक्षा की।

मौके पर प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व डिजिटल मीडिया से जुड़े कई पत्रकारों के अलावे स्थानीय स्वास्थ्यकर्मी मौजूद थे।