Header Ad

header ads

गिद्धौर : बीज की बढ़ती कीमत से अन्नदाताओं में आई आर्थिक तंगी, अनुदान की रखी मांग



Gidhaur News :- इन दिनों गिद्धौर प्रखण्ड क्षेत्र में फसल की बुआई को लेकर बीज के बढ़ती कीमतों ने ग्रामीण इलाके के किसानों की अर्थिक स्थिति पंचर कर दी है। प्रखंड क्षेत्र के रतनपुर, नवादा, मौरा, गुगुलडीह आदि क्षेत्र में फसल की बुआई को लेकर गेहूं, चना, आलू आदि फसलों के बीज की कीमत में आयी उछाल से किसानों की परेशानी बढ़ी है।

 क्षेत्रीय किसानों ने विभागीय उदासीनता की दुहाई देते हुए बताया कि अनुकूल मौसम होने के बावजूद भी किसान क्षेत्र में गेहूं, चना, आलू की बुआई का काम निपटा नही पा रहे हैं लेकिन गेहूं की कीमत रिसर्च ब्रांड 35 से 45 रुपये व हाइब्रिड 60 से 120 रूपये प्रति किलो व चना 60 से 75 रूपये प्रति किलो व आलू  बीज की कीमत 50 से 55 रूपये से भी अधिक महंगा हो गया है, इस बार फसल बीज के आसमान छूते भाव से किसानों के चेहरे पर उदासीनता के भाव साफ देखे जा रहे हैं। किसान गिरधारी रजक, मनोज यादव, शिवनाथ यादव, उपेन्द्र यादव आदि बताते हैं कि कृषि विभाग द्वारा भी सरकारी स्तर पर हम कृषकों को कोई विशेष लाभ कृषि अनुदान के रूप में नही मिल पा रहा है। इतने महंगे भाव मे बीज खरीदकर बुआई कर फसल लगाना संभव नहीं है, बुआई करने के  बाद भी गेहूं चना व आलू के उपज की स्थिति क्या होगी यह भी गहरी चिंता का विषय बनी है। 


 क्या कहते हैं बीएओ -


इस संदर्भ में पूछे जाने पर प्रखंड कृषि पदाधिकारी, गिद्धौर अनुज कुमार शर्मा कहते हैं कि निर्धारित न्यूनतम दर पर गेहूं एवं चना फसल की बुआई को ले विभागीय स्तर पर अधिकृत दुकानों से बीज की उपलब्धता करा रही है। पंजीकृत किसान ऑनलाइन कर सरकार द्वारा निर्धारित न्यूनतम दर पर बीज खरीद सकते हैं।


#Gidhaur, #Agriculture, #GidhaurDotCom