Breaking News

गिद्धौर : बढ़ती महंगाई से होटल कारोबार ठप, कम हो रही ग्राहकों की संख्या

गिद्धौर/जमुई (Gidhaur/Jamui) | सुशांत :

कोरोना महामारी की विषम परिस्थिति और दिनोंदिन बढ़ती महंगाई की वजह से होटल कारोबार ठप होने के कगार पर है. सब्जियों-मशालों की बढ़ती कीमत ने होटल कारोबारियों के माथे चिंता की लकीर बढ़ा दी है. गिद्धौर-जमुई एनएच - 333 के रास्ते कैराकादो स्थित माँ कामधेनु लाइन होटल में ग्राहकों की घटती संख्या पर चिंता प्रकट करते हुए होटल संचालक ओंकार कुमार कहते हैं कि एक तो कोरोना की महामारी ऊपर से बढ़ती महंगाई ने प्रभावित कर दिया है. लॉक डाउन की वजह से सावन महीने में देवघर में सावन मेला नहीं लगा, पहले के वर्षों में सावन महीने में पूरा होटल भरा रहता था, लेकिन इस वर्ष होटल ही बंद करना पड़ा.


ओंकार जी के अनुसार अब जब अनलॉक की प्रक्रिया जारी है ऐसे में बढ़ती महंगाई की वजह से सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं. थोक में खरीदने के बावजूद भी पहले की अपेक्षा सब्जियां तिगुने-चौगुने दामों में मिल रही हैं. लागत अधिक होने की वजह से मजबूरन खाने के आइटमों के दामों में बढ़ोतरी करनी पड़ रही है. चूँकि कच्चा माल खरीदने के साथ मसाले और स्टाफ को भी पेमेंट करना पड़ता है, ऐसे में पहले की अपेक्षा महंगाई तेजी से बढ़ी है.

माँ कामधेनु लाइन होटल के संचालक ओंकार जी बताते हैं कि पहले जहाँ लोग अक्सर ही खाने के लिए आते थे, वहीं अब संख्या अप्रत्याशित रूप से घटी है. कोरोना के कारण लोग लंबी यात्राएँ भी नहीं कर रहे और बढ़ती महंगाई के कारण भी मजबूरन होटलों तक नहीं आ रहे हैं.


बता दें कि लगभग यही हाल हर जगह के होटलों का है. महंगाई और कोरोना ने होटल कारोबार को बड़ा झटका दिया है. कई होटलों में जहाँ ताले लटक गए हैं वहीं स्टाफ भी कम होते जा रहे हैं. होटल संचालक भी महंगाई की वजह से अतिरिक्त खर्चों का बोझ कम करने की कवायद में जुटे हुए हैं.