बड़ी खबरें

सोनो : आंदोलन के मूड में हैं DPE उतीर्ण नियोजित शिक्षक, जानिए कारण

 

Sono News (किशोर कुणाल) :- सोनो प्रखंड के डीपीई उतीर्ण नियोजित शिक्षकों के एरियर भुगतान के मामले में शिक्षा विभाग की शिथिलता देखने को मिल रही है।


 बता दें, कि पटना उच्च न्यायालय के न्याय निर्णय के आलोक में विभाग ने डीपीई उतीर्ण नियोजित शिक्षकों को डीपीई उतीर्णता की तिथि से ही प्रशिक्षण वेतन भुगतान का आदेश दिया। अबतक डीपीई उतीर्ण होने व छह माह का संवर्धन पूरा करने के बाद संवर्धन उतीर्णता तिथि से प्रशिक्षण वेतन का भुगतान किया जाता था। इसके बाद प्रखंड के सत्र 2007-2009, 2008-2010, 2009-2011 में डीपीई उत्तीर्ण शिक्षकों ने सेवा पुस्तिका संधारण के लिए डीपीओ स्थापना को उपलब्ध करवाया। शिक्षक नेता लखन मंडल, विनय कुमार दास, धर्मेंद्र कुमार सिंह, अमित कुमार आदि ने बताया कि इस मामले में तत्कालीन डीईओ विजय कुमार हिमांशु ने संघ के सदस्यों को आश्वस्त किया था कि आठ दिनों के अंदर सेवा पुस्तिका संधारित कराकर एरियर का भुगतान कर दिया जाएगा, पर शिक्षकों के एरियर का भुगतान अबतक लंबित है। इतना ही नहीं सोनो और चकाई प्रखंड को छोड़कर जिले के आठ प्रखंडों का एरियर का भुगतान महीनों पूर्व किया जा चुका है। सोनो और चकाई के डीपीई उतीर्ण शिक्षकों के एरियर भुगतान के मामले में विभाग टालमटोल का रवैया अपना रहा है। 


पटना उच्च न्यायालय व शिक्षा विभाग के वरीय अधिकारियों के आदेश के बाबजूद भी सोनो के 321 शिक्षकों ने अपनी सेवा पुस्तिका प्रखंड स्तर से संधारित कराकर जिला कार्यक्रम पदाधिकारी स्थापना को हस्ताक्षर के लिए बीते 27 दिसंबर को ही उपलब्ध करवा दिया, लेकिन तकरीबन एक साल में भी न तो इन शिक्षकों के सेवा पुस्तिका पर डीपीओ स्थापना का हस्ताक्षर हुआ और न ही डीपीई उत्तीर्ण इन शिक्षकों शिक्षकों के एरियर का भुगतान ही। इससे प्रखंड के नियोजित शिक्षकों में आक्रोश है।




Edited by - Abhishek Kr. Jha



 

No comments