बड़ी खबरें

अलीगंज : चोरों ने चुराये ऐयरटेल टावर से बैटरी, करतूत CCTV में कैद

 

Aliganj News (चन्द्र शेखर सिंह) :- सुशासन सरकार द्वारा भले ही दुरुस्त कानूनी व्यवस्था का दम्भ भरा जाय, पर इन दिनों चंद्रदीप थाना(Chandradeep Police Station) क्षेत्र में बढ़ते चोरी की घटनाओं ने इन सरकारी दावों को जुमला साबित कर रही है।

ताजा उदाहरण सोमवार रात की है, जब थाना क्षेत्र के अवगीला एवं सोनखार गांव स्थित दो एयरटेल (Airtel) व एक ऐयरसेल (Aircel Tower) टाबर से चोरों ने बैटरी बैंक से 73 बैटरी की चोरी कर लिये जाने का मामला प्रकाश में आया है। 

टाबर टेक्नीशियन बबलू कुमार , रंतोष कुमार ने संयुक्त रूप से बताया कि सोमवार (Monday) की देर रात अज्ञात चोरों के द्वारा बैटरी बैंक रूम की ताला तोड़कर अवगीला गांव स्थित मुख्य सड़क किनारे इस्लामनगर 03 से डीजी बैटरी एक चोरी कर लिया गया, जिसमें टाबर में लगे CCTV कैमरा में तीन युवक की फोटो भी चोरी करते कैद हुआ है। उसी रात में सोनखार गांव स्थित एयरटेल टाबर से 24 तथा वहीं , बगल में ऐयरसेल टाबर से 48 बैटरी की चोरी कर लिया गया है। तीनों जगह मिलाकर कुल 73 बैटरी की चोरी कर ली गयी है। टाबर गार्ड संतोष सिंह,कालेश्वर यादव तथा अभिषेक कुमार ने बताया कि रात लगभग दस बजे खाना खाने घर चले आये थे , तभी चोरों ने घटना का अंजाम दिया है।

 विदित हो, तकरीबन छ महीने पूर्व भी अवगीला , इस्लामनगर (Islamnagar) ऐयरटेल (Airtel) तथा चंद्रदीप थाना क्षेत्र के सामने एयरटेल टाबर से 50 बैटरी की चोरी हुई थी, जिसका उदभेदन पुलिस आज तक नही कर सकी है, फिर चोरों ने कुछ ही दिन बाद दोबारा घटना का अंजाम दे दिया है।जिससे आमजन परेशान हैं। इन दिनों क्षेत्र के दर्जनो किसानों के खेतों से भी खेतों की सिंचाई के लिए लगाये समरसेबुल की चोरी कर लिया गया है। जिससे किसान अपने बोरिग में लगे समरसेबुल की सुरक्षा में रतजगा कर रहे है। किसान सुभाषचंद्र सिंह, अनिल यादव, विजय यादव, अविनाश सिंह आदि ने बताया कि थाना में शिकायत के बाद भी चोरी की घटना में कोई रूकावट तो नही हो सकी और न ही घटना में शामिल लोगों का खुलासा हो सका,और चोरी की घटना लगातार बढ़ोतरी हो रही है। जिससे थाना क्षेत्र के लोग परेशान हैं। बताया जाता है कि, इन दिनों थाना क्षेत्र में चोरों का गिरोह भी काफी सक्रिय है पर इनके सक्रियता पर अंकुश लगाने में स्थानीय पुलिस बैकफुट पर नजर आ रही है।

Edited by - Abhishek Kr. Jha 



No comments