बड़ी खबरें

जमुई जिले में 4 विधानसभा सीट पर चुनावी रण का फैसला आज, गणना जारी

 


 


[ न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा ] :- जिले की 4 विधान सभा सीटों के लिए प्रथम चरण में हुए चुनाव के बाद अब नतीजों को लेकर लोगों में बेचैनी है। लोग-बाग आपस में चुनावी चर्चा करते नहीं अघा रहे हैं। कई प्रत्याशी और उनके समर्थकों की रात आंखों में कट रही थी। जमुई जिले के विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में  लोगों की चौकड़ी चुनावी फैसले करते नजर  आ रही थी, उनके इन्तज़ार को आज आयाम मिलता दिख रहा है।


कौन  होगा विजेता, अटकले तेज


   जिले के विभिन्न विधानसभा क्षेत्र का विजेता कौन होगा? बिहार चुनाव समाप्ति के बाद इसको लेकर अटकलें तेज हैं। झाझा, चकाई, सिकंदरा, व जमुई विस के महागठबंधन व एनडीए प्रत्याशियों  के बीच कांटे की टक्कर बताया जा रहा है, जबकि  कुछ विस में  निर्दलीय प्रत्याशी  भी ताकतवर अवस्था मे नजर आ रहे हैं।  सामाजिक समीकरण, जातीय समीकरण और दलीय समीकरण को मिलाकर लोग तरह-तरह के कयास लगा रहे हैं। वहीं, चाय समेत अन्य दुकानों पर चाय की चुस्की के साथ सरकार बनती और बिगड़ती दिख रही है।


पकने लगी हार-जीत के समीकरण की खिचड़ी  


बीते 28 अक्तूबर को शांतिपूर्ण माहौल मे संपन्न हुये विस चुनाव के मतगणना आज होगी इसको लेकर अटकलें पर विराम लग गयी है। मतगणना को लेकर राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता सहित आमलोगों पर छाया चुनावी बुखार उतरता दिख रहा है। इसके अलावे चुनावी हार-जीत के समीकरण की खिचड़ी पकने लगी है। जीत का सेहरा किसके सिर बंधेगा इसको लेकर उत्सुकता देखी जा रही है। प्रत्याशियों के समर्थक अपनी अपनी जीत का दावा कर रहे हैं। ऊंट किस करवट बैठेगा यह मतगणना के बाद ही पता चलेगा। सभी प्रत्याशियों के बीच मुकाबला कांटे का होना तय माना जा रहा है। 



नतीजों को लेकर उत्सुक हैं कार्यकर्ता 


 विधानसभा चुनाव के परिणाम को लेकर लगाए जा रहे कयासों के बीच कार्यकर्ताओं का उत्साह चरम पर है। अलग-अलग दल व गठबंधन के नेता अपने-अपने तरीके से समीकरणों की व्याख्या कर रहे हैं। इन सबके बीच समर्थक नतीजों को लेकर उत्साहित हैं। इस10 नवंबर को आनेवाले फैसले का इन्तज़ार बड़े  ही सीद्द्त से कर रहे थे, जो आज घोषित होने वाले परिणाम के बाद पूरा होगा।


दिल्ली से भी टनटना रही है मोबाइल -


चुनाव को लेकर एग्जिट पोल आने के बाद सक्रियता दिखाते हुए कुछ लोग दोनों खेमों में अपनी संभावनाएं तलाश रहे हैं। वहीं, अपने लिए मुफीद नतीजे आने की स्थिति में वापसी करने वाले  नौकरशाहों को माध्यम  बनाकर दिल्ली मुख्यालय से भी मोबाइल की घंटीयां टनटनाकर चुनावी परिणाम जानने  की लालसा लगाये हैं। जिससे यह सिद्ध होता है कि  दिल्ली में बैठे आकाओं को भी जमुई जिले के विभिन्न विधानसभा चुनाव के नतीजे का परिणाम जानने की उत्सुकता लगी हुई है।


 साख पर हैं नेताओं के दाव, कुछ की राहें आसान


जमई जिले के 4 विधानसभा सीटों पर उतरे 52 लड़ाकों का भाग्य का फैसला आज हो जाएगा। इसको लेकर कई नेताओं के साख दांव पर लगे हैं। झाझा विधानसभा से जहां जदयू प्रत्याशी दामोदर रावत एवं आरजेडी के राजेंद्र यादव का मुकाबला रोमांचक होने वाला है। वही, जमुई विधानसभा सीट से महागठबंधन के विजय प्रकाश एवं भाजपा प्रत्याशी श्रेयसी सिंह मैदान मारने को आतुर दिख रहे हैं।  इधर, सिकंदरा विधानसभा से हम प्रत्याशी प्रफुल्ल मांझी तथा कांग्रेस के बंटी चौधरी मैदान फतेह करने के लिए हाथ पैर मार रहे हैं। जबकि चकाई विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय, जेडीयू एवं आरजेडी प्रत्याशियों के लिए यह चुनाव परिणाम अग्निपरीक्षा के समान दिख रही है।

खैर जो भी हो, कोरोना काल में संपन्न हुए इस बिहार विधानसभा चुनाव के परिणाम को लेकर जमुई जिले के कुछ दिग्गज नेताओं की साख दांव पर लगी है। अब ये देखना बेहद दिलचस्प होगा कि जिले के 4 विस सीटों मे नेताओं की  पुनर्वाप्सी होती है या जनता जनारधन ने कोई विक्लप इख्तियार किया है।  



No comments