बड़ी खबरें

बिहार चुनाव : जमुई बना हॉट सीट, दांव पर लगी राजनीतिक घरानों की प्रतिष्ठा

जमुई (Jamui) | अपराजिता सिन्हा [Aprajita Sinha] :
हम जमुई की स्वर्णिम धरती के राजनीतिक स्थिति की बात करें तो देखेंगे कि इस पावन भूमि की सेवा विधानसभाध्यक्ष से लेकर मुख्यमंत्री तक ने की है। बिहार (Bihar) में चुनाव का बिगुल बज चुका है। प्रथम चरण का चुनाव 28 अक्टूबर को होने वाला है। जमुई (Jamui) में भी प्रथम चरण में ही मतदाता अपने मत का प्रयोग करेंगे। 
इस वर्ष कुल 14 प्रत्याशी जमुई के चुनावी मैदान में हैं। इस वर्ष जमुई में एनडीए (NDA) की सीट भाजपा (BJP) ने अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज श्रेयसी सिंह (Shreyasi Singh) को दिया है। श्रेयसी सिंह पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व. दिग्विजय सिंह (Late Digvijay Singh) तथा बांका (Banka) की पूर्व सांसद पुतुल कुमारी (Putul Kumari) की सुपुत्री हैं। राजद (RJD) की टिकट पर वर्तमान विधायक विजय प्रकाश (Vijay Prakash) महागठबंधन (Mahagathbandhan) के प्रत्याशी हैं। यह पूर्व केंद्रीय मंत्री जयप्रकाश नारायण यादव (Jaiprakash Narayan Yadav) के छोटे भाई हैं। इनके अलावा पूर्व कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह (Former Minister Narendra Singh) के पुत्र अजय प्रताप सिंह (Ajey Pratp Singh) भी चुनावी संग्राम में रालोसपा (RLSP) के टिकट से खड़े हैं। कुल 14 प्रत्याशियों में ये 3 प्रत्याशी राजनीतिक घराने से ताल्लुक रखते हैं। यहां से स्व. त्रिपुरारी सिंह चार बार विधायक चुने गए हैं जो विधानसभाध्यक्ष भी रह चुके हैं।
मलयपुर निवासी सुशील कुमार सिंह जिनको लोग प्यार से हीराजी बोलते हैं, जमुई से तीन बार विधायक चुने गए। इनके बाद पूर्व कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह भी यहां से विधायक रह चुके हैं। नरेंद्र सिंह के बाद इनके दो पुत्र अभय सिंह तथा अजय प्रताप सिंह को भी यहां कि जनता ने अपना भरपूर स्नेह देकर विधायक बनाया है। कहा जाता है कि जमुई विधानसभा सीट पर सबसे अधिक राजपूत, यादव और मुस्लिम मतदाताओं की अहम भूमिका होती है। 
यहां कुल मतदाता 2,93,587 हैं। इस बार यह देखना दिलचस्प होगा कि जमुई आखिर किसके सिर पर अपना सिरमौर रखेगी?

No comments