बड़ी खबरें

गिद्धौर में मां महालक्ष्मी की नियम निष्ठा के साथ हुई पूजा- अर्चना

 

Gidhaur News (अभिषेक कुमार झा) :- गिद्धौर के उलाय नदी तट पर अवस्थित दुर्गा मंदिर के प्रांगण में धन वैभव की देवी महालक्ष्मी की पूजा प्राण प्रतिष्ठा के साथ चंदेल राजवंश के विद्वान पंडितों के देख रेख में नियम निष्ठा एवं विधि विधान के अनुसार करवाया गया। चंदेल राज रियासत के द्वारा सदियों से दुर्गा पूजा के बाद आश्विन शुक्ल पूर्णिमा तिथि की संध्या बेला में धन,वैभव की देवी मां लक्ष्मी की पूजा प्रतिमा स्थापित कर प्राण प्रतिष्ठा के साथ रियासत के विद्वान पंडित महेश महाराज के द्वारा परंपरा अनुरूप करवाया गया। इस अवसर पर मां को नैवेद्य आदि का भोग लगाया गया। 

बतातें चले, बंगाल राज्य में जिस प्रकार मां लक्खी की पूजा सदियों से कराये जाने की परंपरा रही है ठीक उसी तरह गिद्धौर के आम अवाम के सुख समृद्धि एवं शांति को लेकर मां लक्ष्मी की पूजा यहां रीति रिवाज के अनुसार करवाया जा रहा है। क्षेत्र के आम आवाम का यह मानना है कि इस मंदिर में स्थापित लक्ष्मी मां की जो भक्त सच्चे हदय से आराधना करता है, मां उनकी झोली धन धान्य से भर देती है। वहीं , गिद्धौर के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य डा. विभूति नाथ झा के अनुसा मां महालक्ष्मी की प्रतिमा आश्विन शुक्ल पूर्णिमा शुक्रवार के दिन प्राण प्रतिष्ठा कर पूजा अर्चना के उपरांत अगले दिन शनिवार कार्तिक प्रतिपदा को विधिवत रूप से त्रिपुर सुंदरी मंदिर तालाब में संध्या आरती कर कोरोना प्रोटोकॉल के साथ विसर्जित की जाएगी।

No comments