बड़ी खबरें

गिद्धौर : ओवरलोडेड वाहनों से धंसा एनएच-333, हो सकती है दुर्घटना

गिद्धौर/जमुई (Gidhaur/Jamui) | सुशान्त साईं सुन्दरम : ओवरलोडेड वाहनों की वजह से सड़कें खराब हो रही हैं. लेकिन ओवरलोडिंग पर नियंत्रण नहीं हो सका है. क्षमता से ज्यादा सामान ट्रक में लोड कर चलने की वजह से एनएच-333 की सड़क कई जगह धंस गयी, टूटकर और खराब हो गयी है. गिद्धौर-झाझा जाने वाली मुख्य सड़क का भी यही हाल है. राष्ट्रीय राजमार्ग कई जगहों पर धंस गयी, उसी से होकर ट्रक के गुजरने से और स्थिति खराब हो सकती है.
एनएच-333 का मरम्मत नहीं हुआ तो हो सकती है दुर्घटना
गिद्धौर के लॉर्ड मिंटो टावर चौक से पूरब की ओर बढ़ने पर पतसंडा पंचायत भवन के सामने एनएच धंस रहा है. बता दें कि इसी जगह पर एक छोटी पुलिया है. जिस पर से भरी वाहनों के आवागमन से सड़क पर दबाव पड़ रहा है. सड़क धंस कर टूट रही है. इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि अगर मरम्मतीकरण नहीं किया गया तो इस टूटे सड़क पर दुर्घटना भी हो सकती है.
ओवरलोडिंग पर जुर्माना, लेकिन नहीं हो रहा नियंत्रण
मोटर व्हीकल एक्ट में संशोधन के बाद ट्रैफिक नियमों को तोड़ने और ओवरलोडिंग को लेकर जुर्माना काफी बढ़ाया गया है, लेकिन इसपर नियंत्रण नहीं हो पा रहा.

बता दें कि एनएच 333 बिहार-झारखंड को आपस में जोड़ता है. इस रास्ते गाड़ियों का आवागमन जमुई, झाझा, चकाई के लिए होता है.

No comments