बड़ी खबरें

गिद्धौर : बढ़ती कीमतों के चलते आम आदमी की पहुंच से दूर हुए फल, यहाँ जानिए क्या है दाम

गिद्धौर/जमुई (Gidhaur/Jamui) | सुशान्त साईं सुन्दरम : लॉक डाउन (Lockdown) की वजह से जहां गाड़ियां कम चल रही हैं, वहीं लोगबाग भी घरों से कम ही निकल रहे हैं. किराना और सब्जियों के साथ-साथ फल भी लोगों के रोजमर्रा की जरूरतों में शामिल हैं. एक तरफ सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं वहीं फलों के बढ़ते दामों की वजह से आम आदमी की पहुंच इससे दूर होती जा रही है.
गिद्धौर (Gidhaur) के प्रिंस मार्केट (Prince Market) में लगभग 20 गांवों के लोग खरीददारी करने आते हैं. लेकिन इनदिनों कोरोना वायरस (Corona Virus) की वजह से लॉक डाउन के कारण बाजार आने वाले लोगों की संख्या में अप्रत्याशित रूप से कमी आई है. वहीं आसमान छूते फलों के दामों से लोगों की दूरियां इससे बढ़ी है. बच्चों, बीमारों, वृद्धों को फल नसीब नहीं हो रहे. सामान्यतः बिकने वाले दामों में 2 से 3 गुना बढ़ोतरी हो गई है.
गिद्धौर (Giddhaur) के फल विक्रेता गौतम केशरी बताते हैं कि मंडी से ही फल महंगे आ रहे हैं. ट्रेनों के परिचालन बंद होने से दूर दराज की मंडियों से आने वाले फलों की आयात घटी है. सड़क मार्ग से आने वाले फलों की कीमत रखरखाव और लाने में होने वाले खर्च की वजह से अधिक है. ऐसे में खुदरा बाजार में फलों की कीमत महंगी हो गई है.

देखिये गिद्धौर बाजार (Giddhour Market) में मिलने वाले फलों के रेट :
सेव - ₹80-₹100 प्रति किलोग्राम
बिदाना - ₹80-₹100 प्रति किलोग्राम
नासपाती - ₹80 प्रति किलोग्राम
मौसमी - ₹60 प्रति किलोग्राम
सिंगापुरी केला (हरा छाल) - ₹30 प्रति दर्जन
चिनिया केला (पीला छाल) - ₹40 प्रति दर्जन
नारियल - ₹25 प्रति गोला
डाभ - ₹45-₹50 प्रति पीस

No comments