बड़ी खबरें

गिद्धौर : EVM बटन दबाने के आधार कार्यक्रम पर RLSP ने निकाली मशाल जुलूस


GIDHAUR news (धनंजय कुमार 'आमोद') :-  राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के द्वारा शिक्षा सुधार सप्ताह की शुरुआत मशाल जलाकर कर दी गयी। कार्यक्रम की शुरुआत जिला अध्यक्ष अरुण मंडल की अध्यक्षता में गिद्धौर के बानाडीह स्थित गरभु स्थान से जमुई कचहरी चौक तक यह काफिला चला।वही, जिला अध्यक्ष अरुण मंडल ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि


बिहार में शिक्षा सबसे खराब हालात में है नीतीश सरकार ने बिहार में लगातार गिरते शिक्षा स्तर को सुधारने का कोई प्रयास नहीं किया सिर्फ साइकिल, पोशाक, खिचड़ी और पैसा बांटकर वोट की सौदेबाजी हुई है। सुखी संपन्न लोग या तो निजी शिक्षा पर निर्भर है या बिहार के बाहर शिक्षा व्यवस्था पर निर्भर है । बिहार में कोई भी परीक्षा बिना पेपर लीक , न्यायिक हस्तक्षेप और परीक्षा रद्द हो जाने प्रक्रिया के बगैर पूरी होती ही नहीं है। सभी स्तर के शिक्षक निराश और नाराज हैं छात्र बेहाल है अभिभावक मूक दर्शक बना दिए गए हैं। आखिर कब तक हम अपने बाल बच्चों की तकदीर को यूं ही उजडते देखते- सहते रहेंगे। क्या इस हकीकत से इनकार किया जा सकता है कि गरीब घर के बच्चे के सपनों को साकार करने का एकमात्र जरिया शिक्षा है। चुनाव सामने है ऐसे ही अवसरों के लिए मताधिकार आपके हाथों में संविधान द्वारा दिया गया औजार है । जिसका प्रयोग कर आप अपने बच्चों के भाग को बदल सकते हैं। वही अतिपिछड़ा प्रकोष्ट के प्रदेश महासचिव भोला सव ने कहा कि शिक्षा सुधार को वोट डालने का पहला आधार बनाये। राष्ट्रीय लोक समता पार्टी लगातार शिक्षा सुधार को सवाल बनाकर अपने 25 सूत्री सुझावों के साथ सड़क पर संघर्ष करती रही है, लेकिन सरकार सुनने को तैयार नहीं है। हम लोगों ने शिक्षा सुधार संकल्प महारैली, शिक्षा सुधार मानव कतार, शिक्षा सुधार पुस्तक उपहार, शिक्षा सुधार शिक्षक सत्कार, शिक्षा सुधार जन जन का अधिकार, शिक्षा और रोजगार इसके लिए मानव कतार, शिक्षा सुधार वरना जीना बेकार, जैसे कार्यक्रम के द्वारा न जाने कितनी बार सरकार का ध्यान आकर्षित किया, पर सरकार के कानों पर जूं तक न रेंगी।


 इस मौके पर सुरेश मंडल, दिनेश देशबंधु, प्रमोद मंडल, राजेन्द्र महतो, अरुण मंडल,भोला साव, राजेश यादव,सनोज यादव,धर्मेंद्र कुशवाहा, सहित दर्जनों कार्यकर्ता मशाल शामिल रहे।



No comments