बड़ी खबरें

सोनो चौक पर भाकपा माले ने भारत बंद के तहत किया चक्का जाम

 


Sono News :- एनडीए सरकार लगातार गरीब और किसान विरोधी फैसले ले रही है। मोदी राज में किसानों के खिलाफ विधेयक पारित किए गए हैं, जिनका एकमात्र मकसद कृषि क्षेत्र में कारपोरेट कंपनियों को प्रवेश दिलाना और किसानों को उनके शोषण के अधीन धकेल देना है, यह बातें शुक्रवार को केंद्र सरकार द्वारा कृषि विधेयक पारित करने के विरुद्ध देशव्यापी भारत बंद के तहत सोनो चौक पर चक्का जाम करते हुए भाकपा माले के प्रखंड सचिव बासुदेव राय ने कहीं। उन्होंने कहा कि भाकपा माले जैसी पार्टी सरकार की इस नीति को कतई बर्दाश्त नहीं कर सकती। किसान विरोधी इस काले कानून के खिलाफ किसान पूरे देश में आंदोलन कर रहे हैं। सरकार की लाठियों से हम डरने वाले नहीं है। केंद्र सरकार ने जो बिल लाया है, वह किसान विरोधी है। इसका विरोध जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि इस बिल से सिर्फ बिचौलियों और बड़े उद्योगपतियों को फायदा होगा। छोटे और मझोले किसानों को अपने उत्पाद के सही दाम नहीं मिल पाएंगे। इन बिलों की वजह से कृषि उत्पादों की खरीद की व्यवस्था में ऐसे बदलाव आएंगे,जिनसे छोटे और मझोले किसानों का शोषण बढ़ेगा। चक्का जाम के पूर्व भाकपा माले द्वारा सोनो बाजार में प्रतिवाद मार्च निकाला गया। मौके पर बैजनाथ यादव, सुरेंद्र यादव, सविता देवी, नरेश यादव, सत्येंद्र पासवान, रतन तूरी, परशुराम राय, कैलाश मांझी, झगरू राय, छोटन मरांडी, उमेश यादव, कमलेशिया देवी, कैलाश मंडल, कार्तिक यादव, सुरेंद्र मंडल, विनोद यादव, पिंटू मंडल, बाबूलाल टुड्डू आदि मौजूद थे। 



No comments