Header Ad

header ads

गिद्धौर : रतनपुर के PDS डीलर डकार गए प्रवासी मजदूरों के खाद्यान्न, शिकायत



【Gidhaur News | Abhishek Kumar Jha】:-  राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा के दायरे से बाहर अथवा बिना राशन कार्ड वाले प्रवासी मजदूरों को  5-5 किलो गेहूं या चावल एवं प्रति परिवार पर एक किलो चना मुफ्त देने का ऐलान तो सरकार ने कर दिया, पर डीलर व अधिकारियों के ढुलमुल रवैये के कारण अब तक कई मजदूर इस योजना की आस में हैं। 
ताजा मामला गिद्धौर प्रखंड के रतनपुर पंचायत का है, जहां PDS डीलर पर गुस्साए प्रवासी मजदूरों ने अधिकारियों से हेराफेरी की शिकायत की।
संदेशवाहकों कि यदि माने तो, कोरोना महामारी में लॉकडाउन के बीच पीडीएस दुकानदारों की मनमानी परवान पर है, जिससे त्रस्त होकर रतनपुर के दर्जनों प्रवासी मजदूरों ने रतनपुर पंचायत के पीडीएस डीलर संतोष कुमार केशरी के खिलाफ डीएम व विभागीय अधिकारियों  से लिखित शिकायत की।
आवेदन में प्रवासी मजदूरों ने आरोप लगाया है कि सरकार के द्वारा 3 महीने की राशन प्रत्येक पीडीएस से मुफ्त देने की व्यवस्था की गई है लेकिन जन वितरण प्रणाली के विक्रेता संतोष कुमार केशरी द्वारा मात्र एक महीने का राशन वितरण कर प्रवासी मजदूरों के साथ खिलवाड़ किया गया है। जब मजदूर ने डीलर से मांग की तो उन्होंने आवंटन नहीं होने की बात कही। वहीं अपने ऊंचे पहुंच का धौस दिखाकर मजदूरों को दुत्कारा गया, लिहाजा इस व्यवहार से क्षुब्ध होकर गिद्धौर एमओ, एसडीओ जमुई, जिलाधिकारी जमुई से भी गुहार लगाते हुए जांचोपरांत कार्रवाई करने की मांग की गई है।
डाक के माध्यम से अधिकारियों को सौंपे गए शिकायत पत्र में शैलेश कुमार, प्रकाश रावत, रोहित कुमार साह, जितेंद्र कुमार मोदी, राजीव कुमार सिंह, विजय कुमार रावत, बबन गुप्ता, टुनटुन साह, धीरज कुमार, धर्मेंद्र कुमार साह सहित 29 प्रवासी मजदूरों के हस्ताक्षर अंकित हैं।