बड़ी खबरें

जमुई BDO ने गरीब ब्राह्मण के आशियाने में मनाई सालगिरह, बांटी खुशियां

Jamui News (अभिषेक कुमार झा) :-  वैश्विक संकटकाल में समाज का हर वर्ग एक-दूसरे की मदद करने में जुटा है। अपने जीवन मूल्यों की रक्षा करने के लिए मानव धर्म हर सम्भव प्रयास कर रहा है। ऐसे में जमुई प्रखंड विकास पदाधिकारी पुरुषोत्तम कुमार द्विवेदी (Jamui BDO purushottam Kumar Dwiwedy) अपनी पत्नी के साथ मिलकर अनोखे तरीके से अपनी शादी की सालगिरह मनाई।



दरअसल बीते 30 जून 2020 को कार्यालय कार्यों को निपटाने के क्रम में बीडीओ ने विधवा सास बहू को देखा जिनके घर में देखरेख करने या कमाने वाला कोई नहीं है। सास का नाम उषा देवी तथा बहू का नाम ज्योति देवी है । ज्योति देवी के 4 बच्चे हैं। इनकी व्यथा सुनकर बीडीओ श्री द्विवेदी काफी भाव विभोर हुए। बीडीओ ने तत्क्षण पूरे प्रक्रिया स्वरूप सरकार के कल्याणकारी योजनाओं को लाभ पहूंचाने की पहल की।
वहीं अगले दिन अपने शादी के सालगिरह पर बीडीओ अपनी पत्नी के साथ उक्त गरीब के घर पहुंचे और सालगिरह की खुशियां बांटी। बीडीओ ने बताया कि इस परिवार के जीवन में जो घोर अंधेरा छाया हुआ है उसमें थोड़ी रोशनी लाने के उद्देश्य से सालगिरह के अवसर पर अपनी धर्म पत्नी और पुत्र के साथ उस परिवार के घर कपड़े ,मिठाइयां व अन्य जरूरी सामान लेकर पहुंचा। इनके आगमन से घर के सभी सदस्य अभिभूत हुए। ये परिवार एक गरीब ब्राह्मण परिवार है जो नवकाडीह गरसंडा गांव में आता है। पारिवारिक स्थिति को देखते हुए बीडीओ श्री द्विवेदी ने घर के चारो बच्चों की पढ़ाई का खर्च उठाने का वचन दिया।
इधर, बीडीओ के इस दरियादिली और सालगिरह मनाने के इस अनोखे अंदाज ने नवयुवकों के सामने एक उदाहरण परोसा है। वहीं, यह वाक्य प्रशासनिक अमले में चर्चा का विषय बना रहा।

No comments