Header Ad

header ads

गिद्धौर क्वेरेंटिंन सेन्टर : व्यवस्था से क्षुब्ध प्रवासियों ने फिर किया हंगामा, जानिए मामला

न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा】 :-

 गिद्धौर स्थित महाराजा चंद्रचूड़ विद्यामन्दिर के परिसर में बने क्वेरेंटिंन सेन्टर पर प्रवासी मजदूरों का हंगामा रुकने का नाम नहीं ले रहा है। रविवार की सुबह प्रवसियों ने गुणवत्ताहीन खाने एवं पानी आपूर्ति न किये जाने को लेकर दो घण्टे तक हंगामा करते हुते केंद्र पर तैनात पदाधिकारियों पर रोष जाहिर किया।



 प्रवसियों ने निकाली भड़ास 

गिद्धौर क्वेरेंटिंन सेंटर पर रहने वाले तकरीबन 200 प्रवासियों ने अपनी भड़ास निकालते हुए कहा कि न तो मच्छरदानी दिया गया है और न सैनिटाइजर ही उपलब्ध कराया गया । प्रवसियों के संख्या की अपेक्षा सोने लायक बिस्तर भी मुहैया नहीं कराया गया है। गिद्धौर में क्वेरेंटिंन सेंटर की व्यवस्था से क्षुब्ध हो चुके प्रवासी कहते हैं कि जलपान में रोजाना मूढ़ी ही दिया जा रहा है, कभी-कभी संख्या के अनुरूप नास्ता भी नही दिया जाता। खाना में पौष्टिकता और गुणवत्ता का ख्याल नहीं रखा जाता। इस तेज गर्मी में पेयजल और भरपेट भोजन, जलपान और साफ सफ़ाई मुहैया नहीं कराई जाती। गंदगी से मच्छर और संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। तो ऐसे में कोरोना बाद में कुव्यवस्था पहले मार देगी।


बताते चलें,  गिद्धौर क्वरेंटिंन सेंटर में रह रहे प्रवासियों को रहने व भोजन में कुव्यवस्था की लगातार शिकायत जिलाधिकारी को विभिन्न माध्यमों से मिलने से, इस संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार शुक्रवार को स्वयं गिद्धौर के क्वरेंटिंन सेंटर पहुंचकर क्वरेंटिंन सेंटर से जुड़े हर सुविधाओं को मुहैया कराने का आस्वासन प्रवासियों दिया था, इस दौरान गुणवत्ता विहीन भोजन व शुद्ध पेयजल सहित साफ सफाई में पदाधिकारियों द्वारा लापरवाही बरतने की  शिकायत से जिलाधिकारी धर्मेन्द्र कुमार ने बीडीओ गोपाल कृष्ण को कड़ी फटकार लगाते हुए सेंटर पर  प्रवासियों के हित से जुड़ी सभी व्यवस्थाओं को अबिलम्ब दुरुस्त करने की  हिदायत दी थी। बावजूद इसके बिगड़ते हालात और हालत में गिद्धौर क्वेरेंटिंन सेंटर पर रहने वाले प्रवासियों की सुविधा के लिए केंद्र के संबंधित अधिकारियों की लापरवाही से यहां की तस्वीर बदलती नहीं दिख रही।