बड़ी खबरें

जमुई : खैरमा पहुंचे साइकिल यात्री, वृक्षारोपण कर दिया पर्यावरण बचाने का संदेश

जमुई : मातृ दिवस के अवसर पर आज साइकिल यात्रा एक विचार मंच द्वारा 227वें रविवासरीय यात्रा के तहत एक कार्यक्रम "धरती माँ वृक्षारोपण" चलाया गया जिसमें एक नारा कुछ पेड़ हम भी लगा दे, इस धरती को बचाने के लिए, क्योंकि इसने पूरी जिन्दगी लगा दी हमारा बोझ उठाने के लिए, के साथ शुरू की गई। आज की यात्रा सोशल डिस्टेनसिंग का पालन करते हुए जमुई प्रखण्ड परिसर से निकलकर खैरमा ग्राम तक पूर्ण की गई।
मंच के सदस्य रंधीर कुमार द्वारा बताया गया कि इस कार्यक्रम के अवसर पर खैरमा ग्राम की चौरसी देवी के निजी जमीन पर कई तरह के पौधे लगाए गए और उन्होंने बताया कि दुनिया का सबसे ताकतवर शब्द मां है। मां ही सम्पूर्ण सृष्टि की जननी है। मां अपने बच्चों के लिये जन्नत होती है। मां केवल एक शब्द नहीं बल्कि अपने आप में पूरा महाकाव्य है। मां जीवन की सारी पीड़ा को अपने हृदय में समेटे हुए अपना सब कुछ अपने बच्चों पर न्यौछावर कर देती है। आदिकाल में धरती मां की गोद में कलकल करती नदिया, घने वृक्षों के नीचे मनुष्य भी ऐसे ही रहता था। लेकिन अब इस धरती मां को मनुष्य जाति ने विकास के नाम पर काफी कष्ट दिया है। पेड़ पौधों का अंधाधुंध दोहन हो रहा है और नदियों के जलप्रवाह को रोका जा रहा है, जिससे धरती खतरे में है। मां रूपी इस धरती को बचाने के लिए सामूहिक रूप से आगे आकर पर्यावरण संरक्षण व जल संरक्षण का कार्य करना होगा। इस दौरान उन्होंने सभी को पर्यावरण संरक्षण का संकल्प दिलाया।
मौके पर संदीप कुमार रंजन, हरेराम कुमार सिंह, आकाश कुमार, सचिराज पद्माकर, अजीत कुमार, रौशन कुमार, रंधीर कुमार, विनय कुमार तांती, शेखर कुमार, राजीव कुमार, सुशांशु कुमार, विकाश आनंद, विकाश भारती, राहुल कुमार, नीरज कुमार तथा सतीश कुमार उपस्थित थे।