बड़ी खबरें

जमुई पर मंडरा रहा कोरोना का साया, ग्रीन जोन कायम रखना प्रशासन के लिए बनी चुनौती


जमुई (Shubham Mishra) :- एक ओर कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से पूरी दुनिया भयाक्रांत है। वहीं देश में प्रशासनिक अधिकारियों, स्वास्थ्य कर्मियों,पुलिस कर्मियों की जिम्मेवारी और भी बढ़ गई है,जिसे देखा जा सकता है।

जमुई मानचित्र, (NIC से साभार)

सूबे में भी सभी जिले के संबंधित अधिकारियों द्वारा दिन-रात लोगों के बचाव के लिए उपाय किये जा रहे हैं, सभी व्यवस्थाओं की मानीटरिंग की जा रही है। गांवों में भी पुलिस अधिकारियों,स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा भी लगातार पेट्रोलिंग किया जा रहा है।फिर भी कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है, जिसका कारण कुछ लोगों का सरकारी निर्देशों का ठीक तरीके से अनुपालन नहीं किया जाना को कहा जा सकता है। जमुई में अब तक एक भी कोरोना पोजिटिव नहीं होने का मुख्य कारण प्रशासन द्वारा चुस्त-दुरुस्त व्यवस्था को माना जा रहा है।बतादें कि जमुई के पड़ोसी जिले क्रमशः रेड एवं औरेंज जोन में सम्मिलित हैं। इस कारण जमुई की स्थिति तो ऐसी हो गई है जैसे  सारे दांतों के बीच में जिह्वा रहती है। विदित हो कि सरकार के आदेशानुसार बिहार से बाहर विभिन्न प्रदेशों में फंसे लोगों की घर वापसी होने का निर्देश दिया गया है; जो जमुई जिले को कोरोना के ग्रीन जोन में बरकरार बनाये रखने में प्रशासन के लिये कड़ी चुनौती बन गई है।