Header Ad

header ads

गिद्धौर क्वेरेंटिन सेन्टर पर 18 शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति, न मास्क न सैनिटाइजर

न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा】:-

कोरोना के खिलाफ जंग में  शिक्षा विभाग के कर्मचारी भी अब योद्धा के रूप में अपना योगदान दे रहे हैं।स्वास्थ्यकर्मी, पुलिसकर्मी, सफाईकर्मी, और मीडियाकर्मी के साथ अब शिक्षक भी इनके कंधा से कंधा मिलाकर कोरोना की जंग में मोर्चा संभाल चुके हैं।

गिद्धौर स्थित क्वेरेंटिंन सेन्टर में प्रवासियों के स्वागत सह निबंधन कोषांग के लिए गिद्धौर प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न प्राइमरी एवं मिडिल स्कूलों से कुल 18 शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति कर 3 पालियों में इनकी ड्यूटी लगाई गई है। प्रतिनियुक्त किये गए इन शिक्षकों की ड्यूटी चुनौतीपूर्ण है क्योंकि यहां इन्हें सुरक्षा के लिए मास्क, सैनिटाइजर, ग्लव्स, हैंडवाश जैसी सुविधाएं नहीं दी गई है।


 गिद्धौर प्रखण्ड  कार्यालय के आपदा प्रबंधन शाखा द्वारा निर्गत आदेश पत्र के अनुसार, शिक्षकों की ड्यूटी 3 चरण में लगाई गई है। पहला शिफ्ट सुबह 6 बजे से 2 बजे दोपहर तक, दूसरा शिफ्ट दोपहर 2 बजे से रात 10 बजे तक तथा तीसरा शिफ्ट रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक रखी गयी है।
प्रवासियों के प्रबंधन व निबन्धन तथा इन्हें इनके सम्बन्धित कमरों को आवंटित करने का दायित्व
पदाधिकारियों द्वारा इन्हें सौंपा गया है। नाम न छापने के शर्त पर प्रतिनियुक्त किये गए शिक्षक बताते हैं कि अधिकारियों से सुविधाओं की मांग किये जाने पर वे उल्टे भड़क उठते हैं। ऐसे में कोरोना के साये में अपने दायित्वों का निर्वहन करने वाले शिक्षकों की सुरक्षा भगवान भरोसे है।