बड़ी खबरें

कोरोना : सतर्कता और सुरक्षात्मकता ही है बचाव का उपाय

(आलेख / प्रशान्त कुमार, gidhaur.com) :-

वैश्विक महामारी का रूप ले चुके कोरोना के बारे में अब तक सभी लोगो को बहुत सी लोगों को बहुत सी जानकरियां मिल चुकी होगी। इसके एक दूसरे में फैलने के बारे मे अधिक जानकारी प्राप्त नही है।
ये सिर्फ किसी इंसान के संपर्क में आने से ही नही फैलता है , अगर आप खेलने के लिए बाहर निकलते है, ये सोच कर मैं तो सिर्फ 2-3 घण्टे के लिए ही बाहर गया हूँ । तो कोरोना उतने देर में ही वो आपके घर आ सकता है, क्योंकि आप जिस जगह पर खेलने जाएंगे उस जगह पर किसने थूका या किसी अन्य प्रकार से संक्रमित किया है, ये आपको पता नही और आपके खेलने की वस्तु उस संक्रमित जगह को स्पर्श कर आप उस से संक्रमित हो सकते हैं। आपके दिनभर घर के अंदर रहने से भी कोई फायदा नही होगा। अगर आप लॉकडाउन का पालन न कर के इसका उल्लंघन करते हैं तो ये सिर्फ आप ने घर को ही नही, बल्कि आप पूरे समाज को खतरे में डाल रहे हैंं।  जिस व्यक्ति को कोरोना होता है उसको पता चलने में लगभग 2 सप्ताह का समय लगता है और उस दौरान आप जिन जिन के संपर्क में आएंगे उसे हो सकता है , फिर ये चैन आगे बढ़ता ही रहता है। इसीलिए आप देख  रहे है कि इस चैन को तोड़ने के लिए सरकार सख्त से सख्त कदम उठा रही है । देशभर में लॉकडाउन, सभी प्रकार की  वाहन को स्थागित कर दिया गया, सीमाएं सील कर दी गयी है । यह सभी इस बात की ओर इशारा कर रहे हैं कि इस कोरोना वायरस को हल्के में नही लिया जा सकता। जिस जगह पर नही है ,उस जगह लाने का प्रयास न करे ये तब तक नही आपके घर या समाज में नही आएगा जबतक आप से बाहर लेने नही जाएंगे। इस लॉक डाउन का पालन कर इस अथक प्रयास को सफल बनायें ।
 इस कोरोना वायरस के चलते देश में बहुत सी समस्याएं भी उत्पन्न हो रहीं है, देश की अर्थव्यवस्था , मार्किट शेयर सारे लगातार कम होते जा रहे है। इन सबको दूसरे ओर रख कर कोरोना जैसी खतरनाक महामारी से जंग कर रहे। इस जंग को तभी जीता जा सकता है जब पूरा देश का नागरिक सरकार के दिये गए निर्देश का पालन करेंगे।

सतर्क रहें, सुरक्षित रहें।
जय हिंद!