बड़ी खबरें

सिंधिया के कांग्रेस छोड़ जाने पर बमक गए सिकंदरा विधायक बंटी चौधरी, जानें क्या कुछ कहा

जमुई | सुशांत :
जहाँ एक तरफ देशभर में होली की खुमारी चरम पर है और लोग एक दुसरे को रंग-अबीर लगाकर होली की शुभकामनायें दे रहे हैं, वहीं देश की राजनीती का रंग भी इस होली बदलता नजर आया. राहुल गांधी के करीबी एवं कांग्रेस के युवा नेताओं में शीर्षस्थ रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया पार्टी से इस्तीफा दे दिया है.

मंगलवार के घटनाक्रम के मुताबिक सिंधिया सबसे पहले गृह मंत्री एवं भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अमित शाह के घर गए, जहाँ से वे दोनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने पीएम आवास पहुंचे. ज्योतिरादित्य सिंधिया और गृहमंत्री अमित शाह दोनों एक ही गाडी से पीएम आवास गए. प्रधानमंत्री के साथ करीब एक घंटे तक सिंधिया ने वक्त बिताया. जिसके बाद उन्होंने कांग्रेस पार्टी से अपना इस्तीफा दिया. दिलचस्प बात ये है की सिंधिया के इस्तीफे में कल यानी 9 मार्च की तारीख अंकित है.
कांग्रेस पार्टी की सरकार मध्य प्रदेश में कमलनाथ के नेतृत्व में चल रही है. जहाँ चुनाव बाद सिंधिया मुख्यमंत्री बनने की लालसा पाले हुए थे, वहीं राहुल गाँधी ने कमलनाथ को मुख्यमंत्री बनाया. हालांकि सिंधिया के करीबी विधायकों को मंत्रिमंडल में स्थान दिया गया. लेकिन पिछले कुछ दिनों से कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच आपसे मतभेद ज्यादा ही बढ़ गए. लोकसभा चुनाव में सिंधिया की हार के बाद उन्हें ज्यादा अहमियत नहीं दी जाने लगी. शायद इन सब वजहों से ही उन्होंने पार्टी छोड़ने का फैसला लिया. अब तक प्राप्त खबरों के अनुसार ज्योतिरादित्य सिंधिया के अलावा मध्य प्रदेश के 22 विधायकों-मंत्रियों ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है.
इस पुरे घटनाक्रम के बारे में हमने बिहार के जमुई लोकसभा क्षेत्रान्तर्गत सिकंदरा विधानसभा से कांग्रेस के विधायक सुधीर कुमार उर्फ़ बंटी चौधरी से उनकी प्रतिक्रिया ली. सिकंदरा विधायक बंटी चौधरी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने सिंधिया को हमेशा सम्मान दिया, केंद्र में मंत्री भी बनाया. लेकिन मतलब और अपने फायदे के लिए पार्टी हित को नहीं देखते हुए उन्होंने पार्टी छोड़ी है. 20 विधायकों के भविष्य को भी अंधकारमय कर चले गए. अगर उन्हें लग रहा कि यह उनकी जीत है तो वे फिर से चुनाव लड़ें.

अटकलें लगाईं जा रही थीं कि सिंधिया होली के दिन ही भाजपा में शामिल होंगे लेकिन फ़िलहाल उन्होंने भाजपा ज्वाइन नहीं किया है.


यहाँ सुनिए क्या कुछ कहा सिकंदरा विधायक बंटी चौधरी ने >>