बड़ी खबरें

गिद्धौर में नियोजित शिक्षकों का अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू, आंखों में दिखा आक्रोश


गिद्धौर (न्यूज़ डेस्क)  :- सामान काम समान वेतन के मांग पर गिद्धौर में भी नियोजित शिक्षकों ने सरकार के खिलाफ अपना मोर्चा खोल दिया है। एक ओर जहां मैट्रिक परीक्षा के सफल संचालन को लेकर शिक्षकों की नियुक्ति अधिकारियों के लिए सरल बनी हुई है, वहीं दूसरी ओर सरकार से अपने हक की मांग पर शिक्षक संघ अडिग है।
इसको लेकर सोमवार को बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले सरकार से अपनी वेतनमान सहित अन्य मूलभत मांगों के समर्थन में प्रदेश अध्यक्ष आनंद कौशल सिंह के नेतृत्व में प्रखंड के नियोजित शिक्षकों ने गिद्धौर प्रखंड मुख्यालय में प्रखंड संसाधन केंद्र के समक्ष अनिश्चित कालीन हड़ताल शुरू कर दिया।  इस अवसर पर नियोजित  शिक्षकों ने सरकार के शिक्षक विरोधी नीतियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। संघ द्वारा आहूत धरना के दौरान शिक्षकों के उमड़े सैलाब को संबोधित करते हुए समन्वय समिति के प्रदेश कोर कमिटि के सदस्य आनंद कौशल सिंह ने कहा कि सरकार के धमकियों से बिहार के शिक्षक डरने वाले नही है। सरकार हठ धर्मिता छोड़े और शिक्षकों को उनका हक अधिकार दे जिनके वो हकदार हैं। श्री सिंह ने आगे कहा कि अगर सरकार शिक्षकों के समस्याओं पर गंभीरता से विचार नही करती तो आगामी चुनाव में हम सभी नियोजित शिक्षक सरकार की ईंट से ईंट बजा देंगे।
हड़ताल को संबोधित करते हुए शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के सदस्य राजीव वर्णवाल एवं बशिष्ठ नारायण यादव ने संयुक्त रूप से कहा कि जब तक शिक्षकों को उनका हक नही मिलेगा तब तक ये हड़ताल निरंतर जारी रहेगा। शिक्षक सरकार के धमकी से डरने वाले नही हैं। संघ द्वारा आहूत धरना प्रदर्शन की अध्यक्षता शिक्षक कृष्णा राम ने कि वहीं मंच संघ के सदस्य ब्रजेश सिंह ने किया।
इस अवसर पर अनिश्चित कालीन धरना में शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के कोर कमिटी के सदस्य सह बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष आनंद कौशल सिंह, शिक्षक राजीव वर्णवाल, बशिष्ठ यादव, ब्रजेश सिंह, रंजीत यादव,  प्रदीप रजक,  कैलाशपति यादव, उमाशंकर प्रसाद, वंदना कुमारी, सचिव साबिर अंसारी, मदन सिंह, आदित्य कुमार, नवल कुमार, मुरारी गुप्ता, बबिता कुमारी, सौरभ कुमार, कंचन कुमारी, राधिका रंजन, रिशु मेहता, सुजाता कुमारी, सबुजा कुमारी, अशोक पासवान, रेणु कुमारी, संगीता कुमारी,ललन कुमार,भाषों ठाकुर,अनुपमा कुमारी सहित सैकड़ों शिक्षक शिक्षिका उपस्थित थे।