Header Ad

header ads

अलीगंज : स्वतंत्रता सेनानी की पत्नी का निधन, SDO ने गांव पहुंचकर दी सलामी


अलीगंज/न्यूज़ डेस्क (चन्द्र शेखर आज़ाद) :-
प्रखंड के पुरसंडा पंचायत के महमदपुर गांव निवासी स्वतंञता सेनानी स्व. रामरूप दुसाध की पत्नी मानव देवी (86) वर्ष की सोमवार की रात्रि अचानक निधन हो गया। उनके निधन की समाचार मिलते ही प्रखंड में शोक की लहर फैल गई। बड़ी संख्या में अधिकारियों व लोग उनके पैतृक घर पहुंचकर पुष्प-अर्पित कर उन्हे नमन किया और पीडित परिजनों को शोक संवेदना प्रकट किया।
स्वतंत्रता सेनानी की पत्नी के निधन की समाचार मिलते ही अनुमंडलाधिकारी लखीनद्र पासवान , प्रखंड विकास पदाधिकारी मो. शमशीर मलिक, सिकंदरा पुलिस के जवानों एवं युवा लोजपा के राष्ट्रीय महासचिव बाई पी सुमन, अलीगंज शौण्डिक  पंचायत समिति सचिव मुकेश कुमार के दर्जनो लोगों ने शव  पहुंचकर सलामी दी।


बता दें कि सन् 1945-46 मे स्वतंत्रता सेनानी स्व. रामरूप दुसाध ने देश को गुलामी की जंजीरों से मुक्त कराने में अंग्रेजों के साथ लडाई लडें थे और जेल की भी गये थे। उनका निधन 105 वर्ष के उम्र में तीन वर्ष पहले हुआ। मानव देवी ने भी अपने पति का स्वतंत्रता संग्राम की लड़ाई में भरपुर सहयोग दी थी। इनके निधन पर समाजसेवी सह अधिवक्ता शशिशेखर सिंह 'मुन्ना', किसान श्री धर्मेद्र कुशवाहा , मुकेश कुमार, योगेन्द्र प्रसाद सुमन, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रभुदयाल सिंह, राज्य प्रतिनिधि सुधीर प्रसाद सिंह, युवा नेता धर्मेन्द्र पासवान ने भी शोक संवेदना प्रकट करते हुए कहा कि रामरूप दुसाध ने देश को आजाद कराने में अहम योगदान दिये थे, और इसके लिए वे अपने क्षेत्र में टीम बनाकर लोगों को प्रेरित किये और इसकी भनक अंग्रेजी सेना को लगी। इन्हें गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया था। देश आजाद होने के बाद जेल से मुक्त हुए। उनके धर्म पत्नी की निधन की समाचार मिलते ही बड़ी संख्या में लोग पहुंचे और शोक संवेदना प्रकट कर शव यात्रा मे शामिल हुए।