बड़ी खबरें

जमुई में मीडिया से बोले DIG मनु महाराज, पुलिस की रणनीति व कुशल नेतृत्व से नक्सलियों पर लगेगा विराम


जमुई (न्यूज़ डेस्क) :- मुंगेर प्रक्षेत्र के डीआईजी मनु महाराज रविवार को सुबह जमुई परिसदन में मीडिया कर्मी के साथ प्रेस वार्ता की मीडिया से मुखातिब होते हुए उन्होंने बताया कि एसटीएफ टीम के द्वारा दुमका से नक्सली सिद्दू कोड़ा को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तारी के दौरान कई सारे हत्यारों उसकी निशानदेही पर जमुई जिला से बरामद किया गया।
मीडिया से बात करते DIG मनु महाराज
इंसास राइफल एके 47 पुलिस से लुटे हुए हथियार और कई राउंड गोली भी बरामद हुआ। इस सर्च अभियान के दौरान एसटीएफ टीम के द्वारा बताया गया कि सिद्धू कोड़ा शिकायत की थी उनकी पेट और छाती में दर्द हो रहा है। तदुपरांत इलाज के लिए सिद्धू कोड़ा को  जमुई सदर अस्पताल लाया गया।यहां आने के बाद डॉक्टरों के द्वारा उसे  मृत घोषित किया। आगे उन्होंने बताया कि एनएचआरसी के गाइडलाइन के तहत इसमें कार्रवाई की जा रही है। वीडियोग्राफी कर पोस्टमार्टम की जा रही है,तथा हर तरह की उचित कार्रवाई की बात उन्होंने कहीं।
 इसकी जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि सिद्दू कोड़ा ईस्ट बिहार नॉर्थ जोनल कमेटी का एक जोनल कमांडर था जिसकी तलाश पुलिस पिछले कई सालों से कर रही है। सिद्धू कोड़ा के अपराधिक इतिहास के अनुसार लगभग सैकड़ों अपराधिक मामले दर्ज है। जिसमें कई संगीन मामले के तहत कई पुलिसवालों की हत्या,असिस्टेंट कमांडेंट की हत्या,सेफ जवान से हथियार लूटना,एसटीएफ के जवानों पर हमला जैसी कई वारदातों को उसने अंजाम दिया था। जिसकी जांच पड़ताल में प्रशासन लगी हुई है। वार्ता में उन्होंने बताया कि सिद्धू कोरा डेड बॉडी का विधिवत संधान होगा। वैसे 72 घंटे तक प्रशासन के पास बॉडी रखी जाती है ताकि उसके घर वालों को सूचना दी जा रही है ताकि सारी प्रक्रिया विधिवत रूप से पूर्ण हो सके। बताते चलें कि, नक्सली सिद्दू कोड़ा जो आतंक का दूसरा नाम था।  मौत के साथ ही लगता है कि थाना क्षेत्र सहित जिले भर में नक्सली घटनाओं पर विराम लगेगा।