बड़ी खबरें

अलीगंज प्रखंड मुख्यालय पर CAA के विरोध में प्रदर्शन


अलीगंज (चंद्रशेखर आज़ाद) :-

प्रखंड के आढा में एनआरसी , सीएए व एनपीआर के विरोध में अनिश्चितकालीन धरना 26 जनवरी से जारी है। जिसमें बड़ी संख्या में मुस्लिम व अन्य सेक्युलर दलों के लोगों द्वारा संविधान विरोधी कानून को वापस लेने की जिद पर धरना व प्रदर्शन किया जा रहा है। उसी के आलोक में एनआरसी,सीएए व एनपीआर के विरोध में धरना स्थल से लोक पथ यात्रा मो. अनवर इकबाल, मो नौशाद कयाम, मो. हजारी के नेतृत्व में निकाली गयी, जो पैदल मार्च करते हुए प्रखंड कार्यालय पहुंचकर ऐक्ट के विरोध में जमकर नारेबाजी की। संविधान विरोधी कानून को वापस लो ,वापस लो, फिर यह धरना- प्रदर्शन सभा में तब्दील हो गया।

सभा को संबोधित करते हुए मो. तौहीद खां ने कहा कि केन्द्र सरकार काला कानून लाकर देश को बांटने का काम कर रही है। राजद के सोफेन्द्र यादव ने कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक संविधान विरोधी कानून है। जिसे लाकर सरकार हिन्दु- मुस्लिम में  विभेद पैदा करने पर तुली है। जिसे किसी भी कीमत पर देश में लागू होने नहीं दिया जाएगा। मो कमाल ने कहा कि सरकार को इस कानून को वापस करनी चाहिए, जिससे पुरे देश में आपसी विद्वेष फैलाने का काम कर रही है। मो. अनवर इकबाल ने कहा कि यह कानून संविधान के भावना और उसकी मूलभूत संरचना का उल्लंघन करता है। जो देश के लोगों को बांटने का काम करेगा। मो. हजारी ने कहा कि संविधान के अनुच्छेद 14-15 में हर लोगों को समानता और बराबरी दी गई। सभा को कई वक्ताओ ने सभा को संबोधित किया।सभा के बाद पांच सदस्यीय ने देश के राष्ट्रपति के नाम संविधान विरोधी कानून को नही लागू नहीं करने को लेकर एनआरसी, सीएए व एनपीआर के विरोध में मेमोनटो प्रखंडविकास पदाधिकारी मो. शमशीर मलिक को सौपा।
 मौके पर मो. असगर, मुखिया मो. ओवैदुल्लाह, मो. मकसूद, मो. कमाल , धर्मेन्द्र पासवान ,पंचदेव विश्व कर्मा,संजय रविदास,मो नौशाद, मो. मधुजूर रहमान, मो. अबदुल रहमान, मो. शहनवाज, राजकुमार यादवेन्दु सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।