बड़ी खबरें

खैरा : 'गुड टच एवं बैड टच' की जानकारी के साथ हुआ 'मिशन साहसी' कार्यक्रम का समापन

मांगोबन्दर/खैरा | शुभम मिश्रा [Edited by: Aprajita] :
जिले के खैरा प्रखंड अन्तर्गत मध्य विद्यालय मांगोबंदर के प्रांगण में बच्चियों को आत्मरक्षा एवं सामाजिक जागरूकता को लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा चलाये जा रहे "मिशन साहसी" कार्यक्रम का समापन बढ़ते ठंढ के कारण बुधवार को हुआ।
कार्यक्रम का समापन अभाविप के प्रखंड संयोजक शशिकान्त, सदस्य नीरज रावत, पवन पांडेय, विवेक राम, पल्टू मोदी एवं शिक्षक ब्रजेश मोदी द्वारा धन्यवाद भाषण देकर किया गया।
भाषण के दौरान शशिकांत ने समाज में हो रहे बच्चियों के साथ दुर्व्यवहार को लेकर चिंता व्यक्त की। वहीं पल्टू मोदी, ब्रजेश मोदी, विवेक राम ने समाज में बच्चों के साथ भेदभाव एवं भ्रूण हत्या न करने के लिए लोगों से अपील की। भाषण के दौरान नीरज रावत एवं पावन पांडेय ने "लड़कियों की शिक्षा का समाज में सकारात्मक महत्व" पर चर्चा की।
मास्टर ट्रेनर रोहित कुमार, बबिता कुमारी, प्रीति कुमारी ने प्रशिक्षित बच्चियों को सिखाये गये आत्मरक्षा के तरीकों को उचित जगह प्रयोग करने एवं मुसीबत में पड़े लोगों को सहायता करने हेतु शपथ भी दिलाई।
वहीं बबिता कुमारी एवं प्रीति कुमारी ने बच्चियों को "गुड टच एवं बैड टच" के बारे में भी बताया। कार्यक्रम के बारे में विशेष जानकारी देते हुए नीरज रावत ने बताया कि अभाविप के तत्वावधान में "मिशन साहसी" का प्रशिक्षण कार्यक्रम एक सप्ताह तक रखा गया था, जिसका समापन सोमवार को होना था।
परंतु इस बीच ठण्ड के अत्यधिक बढ़ जाने से कार्यक्रम का समापन दो दिन बढ़ाकर बुधवार को करना पड़ा। उन्होंने यह भी कहा कि कार्यक्रम का आयोजन सवेरे 8-9 बजे तक किया जा रहा था ताकि बच्चों की पढ़ाई भी बाधित न हो।
वहीं मास्टर ट्रेनर रोहित कुमार ने कहा कि हमने बच्चियों को जूडो-कराटे, बॉक्सिंग एवं दैनिक दिनचर्या में शामिल होने वाली वस्तुओं से आत्मरक्षा करने के तरीकों को प्राथमिक तौर पर बता दिया है जिसका ये लोग सही एवं सुरक्षात्मक ढंग से प्रयोग कर सकती हैं।
वहीं ग्रामीणों द्वारा इस कार्यक्रम की काफ़ी प्रशंसा की जा रही थी। बता दें कि इस कार्यक्रम को सफल बनाने में अभाविप सदस्यों के अलावे दर्जनों ग्रामीणों की मौजूदगी भी देखी गई।