बड़ी खबरें

जमुई : अवैध लॉटरी के धंधे में गुमनामी के चिलमन में छुपे हैं रसूखदार, कार्रवाई नहीं


न्यूज़ डेस्क| अभिषेक कुमार झा 】 :-

जमुई जिले में लॉटरी का खेल दिन- दूना और रात चौगुना फल -फूल रहा है। प्रशासन को इस अवैध धंधे की भनक तक नहीं है।


विश्वसनीय सूत्रों की माने तो जिले के कुछ चिन्हित स्थलों पर  प्रतिदिन लॉटरी का टिकट बेरोक-टोक बेचे जा रहे हैं।  प्रतिदिन लाखों रुपये के लौटरी टिकट बेचे जाते हैं। बताया जाता है कि मजदूरी करने वाले, रिक्शा व ठेला चलाने वाले, छोटे- छोटे कारोबारी लाखपति बनने के चक्कर में अपनी मेहनत के प्रगाढ़ कमाई को बर्बाद कर रहे हैं। ऐसे व्यक्ति जो अपनी मेहनत की कमाई लॉटरी के चक्कर में लूटा रहा हैं, उसके परिजनों को फटेहाल जीवन जीने को मजबूर हैं। वे लोग स्वर्णिम भविष्य के चक्कर में अपना वर्तमान भी बर्बाद कर रहे हैं। वहीं लॉटरी का टिकट बेचने वाले रातो-रात अपनी तिजोरी भरने में लगे हैं। लॉटरी का टिकट बेचने वाले या टिकट खरीदने वाले इतने गुप्त तरीके से इस खेल में शामिल हैं कि आम लोगों को भनक तक नहीं लग पाती है।
प्रशासनिक नाक नीचे चल रहे इस अवैध धंधे का सरगना कौन है इस पर अभी तक सवालिया निशान लगा है। अवैध लौटरी का गोरखधंधा चलाने वाले गुमनाम चेहरे खुलेआम अपने बुलन्द हौसलों के नोख पर प्रशासन के लिए चुनौती  खड़ी कर दी है पर अभी तक गुमनामी के चिलमन में छुपे इन रसूखदारों के चेहरे से नकाब हटाने में विभाग सफल नहीं हो सका है।