बड़ी खबरें

जमुई के इस नेवी ऑफिसर ने किया दहेज मुक्त विवाह, समाज में पेश की मिसाल

◆  चीन के हांगकांग में तैनात हैं सत्यजीत , बैंक में है अधिकारी लड़की...

[जमुई | न्यूज़ डेस्क] :-     एक ओर जहां छोटे से पद पर तैनात किसी युवक की शादी में लाखों रूपये के  दहेज का वारा न्यारा होता है, वहीं दूसरी ओर जमुई जिले के लक्ष्मीपुर प्रखंड के सबलपुर गांव निवासी दिनेश सिंह के पुत्र सत्यजीत कुमार ने बगैर दहेज की शादी कर समाज के सामने एक मिशाल पेश किया है।


नेवी में तैनात नेविगेटिंग अफसर सत्यजीत और शाखा प्रबंधक आयुषी 24 जून की रात जमशेदपुर में शादी कर एक दूसरे के हो गए। सत्यजीत चीन के हांगकांग में पदस्थापित है। वे 06 साल से मर्चेन्ट नेवी में नेविगेटिंग अफसर के पद पर कार्यरत हैं।
सत्यजीत ने बताया कि सूबे में दहेज प्रथा पर रोक लगने के बाद उन्होंने ऐसा कदम उठाने की सलाह अपने माता-पिता को दिया। सत्यजीत ने बताया कि उनकी पत्नी आयुषी नोएडा के सेक्टर-18 स्थित आइसीआइसीआई बैंक में शाखा प्रबंधक के पद कार्यरत है। मूल रूप से आयुषी अरवल जिला के मझियांवा गांव की रहने वाली है। आयुषी के पिता झारखंड के जमशेदपुर में अभियंता के पद पर हैं। सत्यजीत के बड़े भाई दिल्ली के एम्स में चिकित्सक व पिता सबलपुर में किसान हैं। इनकी प्रारंभिक शिक्षा जमुई के सबलपुर गांव से ही हुई। ये तीन भाई हैं।


दहेज मुक्त विवाह कर समाज मे फैली कुरीतियों पर प्रहार करने वाले नव दंपत्ति को विवाहोत्सव पर सैंकड़ों लोगों का आशीर्वाद भी प्राप्त हुआ।
इधर, दहेज मुक्त शादी कर समाज में मिशाल पेश करने वाले सत्यजीत के इस पहल से समाज में फैली इन कुरीतियों के प्रति लोगों में जागरूकता देखी जा रही है। 
नेवी ऑफिसर, सत्यजीत ने बताया कि दहेज मुक्त विवाह का कदम उन्होंने इसलिए उठाया ताकि समाज में इसके प्रति लोगों की सोच बदलकर समाज में एक सकारात्मक संदेश स्थापित किया जा सके।