Breaking News

6/recent/ticker-posts

गिद्धौर : जानकारी एवं जागरूकता के अभाव में सरकारी योजनाओं से वंचित हैं कृषक

[न्यूज डेस्क | अभिषेक कुमार झा]
एक तरफ सरकार किसानों की आय दुगुनी करने की बात कहकर किसान के लिए कई सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने की बात कह रही है, वहीं दूसरी ओर प्रखंड कृषि कार्यालय के कृषि पदाधिकारी व कर्मियों के द्वारा विगत दो-तीन वर्षों से  इन योजनाओं का लाभ गिद्धौर जैसे इलाके के कृषकों देना मुनासिब नहीं समझते हैं। जिसके कारण विभाग के चहेते किसानों को छोड़कर बाकी सभी गरीब कृषक सरकारी महत्वाकांक्षी योजना से वंचित रह जाते हैं।

दरअसल, गिद्धौर प्रखंड में पहली बार अगस्त के अंतिम सप्ताह लेकर हल्की बारिश के बाद किसानों में धान रोपनी को लेकर सुगबुगाहट शुरू हो गई है।

इधर, वर्षाभाव के कारण बाधित बिजली आपूर्ति के कारण किसानों को चिन्ता सता रही है, लिहाजा यह सोचने पर किसान मजबूर हैं, अगर इसी तरह बाधित बिजली रहेगी तो खेती का काम कैसे हो पाएगा।

प्रखण्ड के कृषक विनोद यादव, सूखौ रावत, विशौ रजक, साकिन्द्र शर्मा, नन्द कुमार मिश्रा, दया नाथ झा के अलावे दर्जनों किसानों ने  अपनी चिन्ता जाहिर करते हुए कहा कि एक तो मौसम का मार, उपर से बाधित बिजली के कारण धान का रोपनी कार्य इस इलाके में बहुत कम होने की उम्मीद है, वहीं इस इलाके के खेतीहर मजदूर एवं किसान अन्य प्रदेशों में रोजगार के लिए पलायन करते दिख रहे हैं।

किसानों ने बताया कि गिद्धौर जैसे इलाके के  80 % कृषक का जीवन कृषि पर निर्भर करता है। यदि इसी तरह बारिश का अभाव और बाधित बिजली रहा तो कृषि रोजगार से इलाके के लोग विमुख हो जाएँगे और किसानों के रोजगार पर बड़ा प्रश्न चिन्ह लग जाएगा।

वहीं स्थानीय निवासी सह कृषक अभय कुमार सिंह एवं सेवानिवृत्त शिक्षक दया नाथ झा ने बताया कि यदि जिला प्रशासन द्वारा इसकी बारीकी से समुचित जांच की जाए तो अनियमितता शीशे की तरह साफ हो जाएगी।