Breaking News

6/recent/ticker-posts

पटना : अब 1 घंटे में फुल चार्ज होगा ई रिक्शा, 2 लाख निवेश कर खोलें 'ई रिक्सा सुविधा केन्द्र'

पटना (अनूप नारायण) : राजधानी के ई-रिक्सा चालक अब एक घंटे में बैटरी रिचार्ज करा सकेंगे. शहर में यह सुविधा 'बिजी मैकेनिक्स' नामक कम्पनी उपलब्ध करा रही है. यह कम्पनी बिहार सरकार के स्टार्ट-अप पॉलिसी के अन्तर्गत रजिस्टर्ड है एवं कोलकाता स्थित अमेरिकन दूतावास भी इसे सहयोग कर रही है.
कम्पनी के निदेशक श्रवण कुमार ने बताया कि उनकी कम्पनी ने राज्य में पहली बार ई-रिक्सा रिचार्ज के लिये डीसी फास्ट चार्जर उपलब्ध कराया है, जिसके द्वारा ई-रिक्सा में प्रयोग किया जाने वाला लीथि यम आयन बैटरी मात्र एक घंटे में पूरा चार्ज हो जायेगा. हालाँकि उन्होंने बताया कि वर्तमान में शहर में चलने वाले अधिकांश ई-रिक्सा में लीड एसिड बैटरी का प्रयोग किया जा रहा है, जिसे डी सी फास्ट चार्जर द्वारा दो घंटे में फुल चार्ज किया जा सकेगा.
उन्होंने बताया कि वर्तमान में कम्पनी द्वारा राजधानी के बोरिंग रोड एवं पटना सिटी में दो "ई-रिक्सा सुविधा केन्द्र" खोले गये हैं. दोनों केन्द्रों पर डीसी फास्ट चार्जर उपलब्ध हैं एवं ई-रिक्सा चालक केन्द्र पहुँचकर दो घंटे में अपने वाहन की बैटरी फुल चार्ज कर सकते हैं.
निदेशक श्रवण कुमार ने कम्पनी की भविष्य योजनाओं पर बातचीत करते हुये कहा कि राज्य में प्रखंड स्तर पर 'ई-रिक्सा सुविधा केन्द्र' खोले जाएँगे. प्रत्येक सुविधा केंद्रों में फास्ट चार्जिंग की सुविधा के अलावे ई-रिक्सा की बिक्री, बैंक फाइनेंस, इंश्योरेंस, बैटरी एवं टायर की बिक्री इत्यादि सुविधाएँ भी उपलब्ध रहेंगी. ई-रिक्सा में सोलर प्लेट लगाने की भी व्यवस्था की गई है, जो उसके बैटरी को स्वतः चार्ज करके वाहन को 35 घंटे अतिरिक्त चलने की क्षमता प्रदान करेगी. चालकों को दैनिक अथवा मासिक किराये पर भी रिक्सा उपलब्ध कराया जायेगा.
उन्होंने बताया कि प्रखण्ड स्तर पर 'ई-रिक्सा सुविधा केन्द्र' खोलने को इच्छुक कोई व्यक्ति मात्र दो लाख रुपये निवेश कर इसकी शुरुआत कर सकता है एवं प्रतिमाह चालीस से पचास हज़ार तक की कमाई कर सकता है. उन्होंने कहा कि महिलाओं को स्वावलंबी बनाना कम्पनी के प्रमुख उद्देश्यों में से एक है. इसलिये इस क्षेत्र में आने वाली महिला उद्यमियों को निशुल्क ट्रेनिंग एवं विशेष सहयोग प्रदान किया जायेगा.