बड़ी खबरें

गिद्धौर में चैत्रीय नवरात्र की हुई शुरुआत, नहीं लगेगा मेला

रतनपुर /गिद्धौर (भीम राज) :-

गिद्धौर प्रखंड के अंतर्गत रतनपुर स्थित दुर्गा स्थान में बुधवार को कलश स्थापना के साथ चैत्र नवरात्र प्रारंभ हो गया। वहीं इस पूजा को लेकर पंचायत के मुखिया राजेश सिंह ने बताया कि  पूरे नवरात्र के दौरान अलग-अलग दिन माता की पूजा- अर्चना की जाएगी।उन्होंने बताया कि 31 मार्च को सप्तमी, 1 अप्रैल को अष्टमी के दिन प्राण प्रतिष्ठा, 2 अप्रैल को नवमी एवं 3 अप्रैल को दशमी के दिन देर शाम को प्रतिमा का विसर्जन रतनपुर के समीप गढ़वा नदी के उत्तरी भाग में विसर्जन किया जाएगा। 
बताते चलें कि दुर्गा पूजा सह काली पूजा कमेटी के गठन में अध्यक्ष कन्हैया जी, सचिव जागेश्वर रजक, कोषाध्यक्ष गोपाल केसरी एवं वर्तमान मुखिया के देखरेख में पूजा की संपूर्ण तैयारी की जाती है। जबकि इस बार कोरोना वायरस के प्रकोप एवं लॉक डाउन को देखते हुए सरकार के निर्देशानुसार इस बार सिर्फ मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित की जाएगी, लेकिन किसी भी प्रकार का मेला नहीं लगाया जाएगा।
विदित हो, इस पारंपरिक पूजा को लेकर एक इतिहास प्रचलित है कि तकरीबन 71 वर्ष पूर्व से ही एक पहाड़ी बाबा थे, जिन्होंने इस पूजा की शुरुआत कर यज्ञ भी किया गया था। तभी से यह परंपरा रतनपुर गांव में आज तक यह पूजा चल रही है।  तकरीबन 41 साल से माता की प्रतिमा का निर्माण सुदामापुर निवासी मूर्तिकार नुनूदेव रविदास कर रहे हैं। 
वर्षों से यहां का यह मंदिर लोगों के बीच आस्था का केन्द्र बना हुआ है।