Breaking News

गिद्धौर : हरितालिका तीज पर बढ़ी बाजार की रौनक, खूब हुई कपड़े और श्रृंगार के सामानों की बिक्री

गिद्धौर [सुशांत] :
हरितालिका तीज को लेकर बाजार में चहल-पहल रही। महिलाएं चूड़ियों से लेकर शानदार प्रसाधन के सामान की खरीदारी करती देखी गई। गिद्धौर बाजार में कपड़े, श्रृंगार एवं पूजा सामग्री की दुकानों में भीड़ रही। यहां तक की ब्यूटी पार्लर में हर उम्र की महिलाओं ने अपने हाथों में मेहंदी भी लगवाया। इसके अलावा कुंवारी लड़कियां भी तीज के मौके पर मेहंदी लगवाने में पीछे नहीं रही।

बाजार के लगभग हर कपड़े की दुकान में महिलाओं की भारी भीड़ नजर आई। उन्होंने साड़ी, पूजन सामग्री आदि की खूब खरीदारी की। चूड़ी की दुकानों पर भी महिलाओं ने अपनी मनपसंद चूड़ियों को खरीदा। चुनरी लहठी सर्वाधिक बिकी, जबकि जयपुरी, इंदौरी आदि लहठियों की खरीदारी के प्रति उत्साह दिखा। सामान के साथ-साथ लेडीज सैंडल चप्पल की बिक्री भी हुई।

तीज के दिन महिलाएं सोलह श्रृंगार करती हैं, व्रत रखती हैं और अपने पति की लंबी उम्र की कामना करती हैं। बता दें कि प्रत्येक वर्ष भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया को हरितालिका तीज का व्रत मनाया जाता है। इस दिन महिलाएं नए कपड़े पहनती हैं, मेहंदी लगाती हैं और श्रृंगार कर भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा करती हैं। हरितालिका तीज व्रत को सभी व्रतों में सबसे बड़ा भी माना जाता है। महिलाओं के साथ कुंवारी कन्याओं के लिए भी यह पर्व खास होता है। भगवान शिव और भगवान श्री गणेश की पूजा की जाती है। यह व्रत निर्जला और निराहार होता है। जिसे महिलाएं रात भर जागकर भगवान के गीत गाते व्रत को संपूर्ण करती हैं और अपने पति के दीर्घायु के लिए कामना करती हैं।