Breaking News

सिमुलतला रेलवे स्टेशन पर शौचालय की व्यवस्था नहीं, यात्री ढूंढते हैं झाडियां

[सिमुलतला | बीरेन्द्र कुमार]

स्वच्छ भारत मिशन के तहत भरकर सरकार की पहली प्राथमिकता होती है कि देश के हर घर में शौचालय हो, हर चौक-चौराहे एवं सरकारी संस्थान स्वच्छ हो। इसकी जागरूकता के लिए सरकार करोड़ों खर्च भी कर रही है। स्वच्छता के प्रति सरकार के इस ढींढोरेबाजी के बाद भी सिमुलतला स्टेशन पर एक भी शौचालय नहीं है। लिहाजा, यहां महिला यात्रियों को विशेषकर परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

बताते चलें कि, सिमुलतला स्टेशन के सौंदर्यीकरण के मद्देनजर स्टेशन की विभिन्न कार्यों को नए- नए भवन में स्थांतरित कर पुरानी भवनों को तोड़ने की कवायद प्रारंभ है।

» क्या कहते हैं ग्रामीण

शौचालय के संदर्भ में पत्रकारों से बातचीत के दौरान सिमुलतल्ला निवासी गोविंद सिंह, इलेक्ट्रॉनिक मैकेनिक रंजीत बरनवाल, कपड़ा व्यवसाय धर्मेंद्र कुमार, पप्पू वर्मा, शंकर रामानी सहित दर्जनों लोगों का कहना है कि लगभग 1 वर्ष पूर्व से ही स्टेशन की पुरानी भवन को तोड़ना प्रारंभ हो चुका है और उसी समय शौचालय भी टूट गई जो आज तक यथावत है। रेल प्रशासन ने जिस प्रकार से इस नए भवन का निर्माण कर सारी मशीनों को भवन में पूरी तरह से व्यवस्थित किया है फिर पुरानी भवन को तोड़ना प्रारंभ किया उसी प्रकार कुछ शौचालय का निर्माण भी पहले ही कर लिया जाता तो इस स्टेशन पर वर्तमान में शायद यह स्थिति नहीं होती।  आम लोगों की समस्या पर रेल प्रशासन को ध्यान देना चाहिए।

» कहते हैं स्टेशन मैनेजर

इस संदर्भ में स्टेशन प्रबंधक जी आर कांत ने बताया कि सिमुलतला स्टेशन पर शौचालय की समस्या है।उच्च स्तर पर भी इस विषय पर बात हुई है। अब तक यात्रियों को भले ही जो भी असुविधाओं का सामना करना पड़ा हो लेकिन बहुत जल्द स्टेशन पर शौचालय निर्माण का कार्य प्रारंभ होने की जानकारी मिली है।