Breaking News

जमुई : कैसे होगा युवाओं का कौशल विकास? इन छह केंद्रों का रद्द होगा अनुबंध

[न्यूज डेस्क | अभिषेक कुमार झा] :-

बिहार सरकार के सात निश्चय योजना अंतर्गत चलने वाले कुशल युवा कार्यक्रम के तहत जमुई जिले के 6 एसडीसी एवं जिलेनियम टेक्नोलॉजी एलएलपी नामक एनजीओ के बीच महीनों से चल रहे विवादित मामला एक नया मोड़ पर आकर खड़ा हो गया है।
जमुई डीएम धर्मेन्द्र कुमार ने उक्त मामले पर कड़ा रूख अख्तियार करते हुए जिलेनियम टेक्नोलॉजी एलएलपी द्वारा संचालित छ: एसडीसी के अनुबंधन को रद्द कराने की अनुशंसा की है।

कौन कौन से हैं छह केन्द्र

महीनों से विवादित घेरे में फंसकर तकरीबन 94 लाख रूपये गबन कर अखबारी सुर्खियों में आए जमुई के जिलेनियम टेक्नालॉजी एलएलपी नामक एनजीओ के तहत कुल छह कौशल विकास केन्द्र जो कि लक्ष्मीपुर, सिकन्दरा, महादेव सिमरिया, बोडवा (झाझा), बल्लोपुर(खैरा), तथा सिमुलतला में एसडीसी के रूप में संचालित थे।

डीएम ने प्रधान सचिव को लिखा पत्र

जिलेनियम टेक्नोलॉजी द्वारा संचालित उक्त छह एसडीसी पर आवश्यक कार्यवाई करने के संबंध में जिलाधिकारी धर्मेन्द्र कुमार ने बिहार कौशल विकास मिशन(बीएसडीएम) के प्रधान सचिव सह मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी दीपक कुमार सिंह को पत्र लिखा। पत्र में उन्होंने बताया कि जमुई जिले के छह जगहों पर जिलेनियम टेक्नोलॉजी द्वारा संचालित एसडीसी के संचालक दिलीप कुमार दास, संजीव कुमार सिंह, फूल कुमारी एवं राजेश यादव द्वारा जिलेनियम टेक्नोलॉजी के निदेशक पर धोखाधड़ी का आरोप लगाते हुए परिवाद दायर किया था। जिस पर सदस्य जांच दल का गठन किया गया और दल के प्रतिवेदनानुसार, लक्ष्मीपुर, बल्लोपुर, तथा महादेव सिमरिया में स्थित एसडीसी पूर्णतः बंद पाया। डीएम महोदय ने अपने पत्र में लिखा कि सरकार के लोक कल्याणकारी योजना में बाधा तो उत्पन्न हुआ ही साथ ही साथ संबोधित केन्द्रों पर आने वाले युवाओं का प्रशिक्षण भी बाधित हुआ है।

» संबंधित खबर के लिए यहां क्लिक करें

डीएम ने प्रधान सचिव का ध्यानाकर्षण करते हुए पत्र में लिखा कि फ्रेन्चाइजी मोड में चल रहे जिलेनियम टेक्नोलॉजी के छह सेन्टर पर कार्य कराया जा रहा है। इसके फलस्वरूप सरकार के राजस्व में ह्रास के साथ-साथ सरकार के अनुबंध शर्तों के प्रतिकूल है। डीएम ने पत्र में स्पष्ट तौर लिखा कि जिलेनियम टेक्नोलॉजी के कार्य कलाप सरकारी मापदंडों एवं शर्तों के अनुकूल नहीं है।
जिलेनियम टेक्नोलॉजी के निदेशक को विवाद के कारण विधि व्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव पडने की संभावना के मद्देनजर एहतियात के तौर पर उक्त छह एसडीसी में तमाम गतिविधियों पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाने का आदेश दिया है।  पत्र में डीएम ने बन्द पड़े सेन्टर को नये सिरे से प्रारंभ करने हेतु आवश्यक कार्यवाई करने की मांग की।

अधर में लटका प्रशिक्षण प्राप्तकर्ताओं का भविष्य

पाठकों को जानकारी से अवगत करते चलें कि, जिलेनियम टेक्नोलॉजी और केन्द्र संचालकों के आपसी खींचातानी एवं विवाद के कारण बंद पड़े उक्त छह एसडीसी में नामांकित दर्जनों बच्चों का भविष्य फिलहाल दाँव पर लगा है। विभागीय नियमानुसार जिन प्रशिशुओं का नामांकन हो जाए वो दुबारा कहीं अन्य नामांकन नहीं करा सकते।  यदि जल्द ही विभागीय मापदंडों को पूरा करते हुए उक्त छह एसडीसी को चालू नहीं किया गया तो सैंकडों युवाओं के भविष्य पर ग्रहण लग जाएगा।