किसान मेला और प्रदर्शनी में खेती-किसानी से सबने देखा जमुई में बहार का नजारा



बरहट/जमुई (Barhat/Jamui), 3 जनवरी 2024, बुधवार : मलयपुर स्थित जिला कृषि कार्यालय के परिसर में आयोजित दो दिवसीय किसान मेला सह कृषि यंत्रीकरण प्रदर्शनी में किसानों का जोश और जज्बा देखते ही बन रहा था। अन्नदाताओं का हौसला और हुनर जहां नई कहानी रच रहा था वहीं खेती में बदलाव का नजारा भी सर चढ़कर बोल रहा था। खेती-किसानी देखकर सबने माना कि जमुई में बहार आ गई है। जिलाधिकारी राकेश कुमार ने दीप प्रज्ज्वलित कर मेला का उद्घाटन किया।


अपने संबोधन में जिलाधिकारी ने कहा कि प्रगतिशील किसान एवं कृषि वैज्ञानिकों के मिलन से जिले में आधुनिक एवं वैज्ञानिक कृषि को बढ़ावा मिल रहा है। आधुनिक कृषि तकनीक एवं यंत्रों के प्रयोग से एक तरफ जहां उत्पादन लागत में काफी कमी आई है वहीं उत्पादन में भी भारी वृद्धि देखी जा रही है। इससे किसानों की आय में बढ़ रही है और वे समृद्ध हो रहे हैं।



डीएम ने आगे कहा कि जिले के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि पढ़े लिखे युवा भी कृषि से जुड़कर खेती को बढ़ावा दे रहे हैं। उन्होंने जलवायु परिवर्तन के मद्देनजर अनुकूल खेती करने पर बल देते हुए कहा कि मोटे अनाज की खेती ज्यादा लाभकारी हो सकता है। मडुआ , कोदो आदि की खेती की जानी चाहिए। मेला का उद्देश्य कृषि के क्षेत्र में नए -नए आविष्कारों से अन्नदाताओं को अवगत कराना है ताकि वे इसका लाभ ले सकें।


कृषि विभाग के अधिकारियों एवं कृषि वैज्ञानिकों ने समेकित कृषि प्रणाली के महत्व पर व्यापक रूप से प्रकाश डाला। कार्यक्रम में कृषि यंत्रीकरण योजना पर भी विस्तार से चर्चा की गई। कृषि एवं उससे संबंधित विभागों द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की भी परिभाषित किया गया। क्षमतावर्धन के लिए बुकलेट भी बांटे गए। कृषि मेला में किसानों ने अनुदानित दर पर भारी मात्रा में कृषि यंत्रों का क्रय भी किया।


इस अवसर पर विभागीय अधिकारी , कर्मी एवं बड़ी संख्या में अन्नदाता उपस्थित थे।



उधर मेला में किसानों ने खेत में उगाए गए फल , फूल , अनाज आदि का प्रदर्शन किया। डीएम विभिन्न स्टॉल पर जाकर उत्पाद को देखा और अन्नदाताओं का हौसला अफजाई किया।

Post a Comment

Previous Post Next Post