Breaking News

6/recent/ticker-posts

जमुई : पूर्व सीएम जीतन राम मांंझी ने गरीब जगाओ आम सभा में सीएम नीतीश पर साधा निशाना



जमुई/बिहार (26 सितंबर 2023) : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने श्रीकृष्ण सिंह स्टेडियम के मैदान पर महती जन सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार की बदहाली  के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सीधे तौर पर जिम्मेवार हैं। जनता इन्हें बैलेट के जरिए जवाब दे तभी राज्य का कल्याण संभव है। उन्होंने मंच से साफ - साफ तो  कुछ नहीं कहा परंतु इशारों - इशारों में काफी कुछ कह गए।  सभा के लिए विशेष पंडाल बनाया गया था। इसमें हजारों लोगों के बैठने की जगह थी।


पूर्व सीएम ने संबोधन के दरम्यान कहा कि हमने अपने मुख्यमंत्रित्व काल में 34 निर्णय लिया था। हम गरीब का बेटा हैं। दो रूम में मैं , जानवर , मुर्गी सब साथ में रहे हैं। इसलिए आवास योजना में व्यापक बदलाव किया। सूअर , गाय , मुर्गी , आदमी सब रहे इसके लिए व्यवस्था किए थे। हमने प्रस्ताव बनाने के लिए कहा था। मुझे रफा - दफा कर दिया। गरीब को उस तरह का घर नहीं मिला। मांझी ने कहा कि 09 माह हमने बिहार के लिए काम किया। बीच में हटा दिया। कहा जीतन मांझी सीएम वोट से नहीं बना है। कुछ लोग सीना तान के कहते हैं , हमने सीएम बनवाया। 2023 तक तेजस्वी को सीएम बनाने के लिए कहा था अब तरह - तरह का नाटक कर रहे हैं।


पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने कहा कि नीतीश सोचते कुछ और करते कुछ हैं। वह हमें जो बोलते थे , वही किये दो माह तक। नीतीश मुझसे 02 साल छोटा है। शिक्षा में भी राजनीति में भी। मांझी ने कहा कि वह (नीतीश) अपनी पसंद के मंत्री बनाना चाहते थे। एक पुर्जा पर लिस्ट दिए। बिना पूछे मंत्रियों को विभाग बांट दिया। सीएम हम और निर्णय वह ले रहे थे। हम मन मसोसकर सीएम का काम कर रहे थे। मीडिया ने लिखा रबर स्टांप हैं जीतन राम मांझी। रिमोट से चल रहे हैं , तब मेरी चेतना जाग गई। मुझे भोला शास्त्री की तरह यूज करना चाहे। हम ठोस निर्णय लिए। अपनी मर्जी से काम करना शुरू किया।


मांझी ने कहा कि हमने सीएम रहते ठेका के नियमों में बदलाव किया। 75 लाख तक के ठेका में आरक्षण दिया। ठेका लाइसेंस बनवाने में गरीबों की सहभागिता बढ़वाई। आज हजारों गरीब ठेकेदार बने हुए हैं। ठेकेदारी में आरक्षण को सीएम ने आज तक रोक रखा है। आरक्षण बंद करवा रखा है। पूर्व सीएम ने कहा कि मार्केट रेट से गरीबों को जमीन दिलाने के लिए कहा था। 30 जून 2015 तक भूदान की जमीन बांटने के लिए कहा था। वह भी नहीं होने दिया। गरीब आज कब्जे के लिए तरस रहे हैं। नीतीश ने हमें नाजायज ढंग से सीएम पद से हटाया था।


पूर्व मुख्यमंत्री मांझी ने प्रदेश की दारूनीति (शराबबंदी) पर भी अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि गरीब दवा के रूप में दारू पिएं तो कोई हर्ज नहीं। आज सभी बड़े लोग 10 बजे के बाद दारू पी रहे हैं। मोग - मर्द दोनों पी रहे , उन्हें नीतीश जेल नहीं भेजते हैं। गरीब 500 कमाएगा तो दारू का 02 हजार जुर्माना कहां से भरेगा? दारूनीति ठीक , लेकिन गरीबों के साथ अन्याय ठीक नहीं। वैसे दारू नहीं पीना चाहिए। यह अच्छी चीज नहीं है। दारू में मिलावट से गरीब मर रहे हैं। मजदूर मरते हैं , अमीर तो महंगा दारू पी रहे हैं। ताड़ी प्राकृतिक रस है। जीतन राम मांझी ने कहा कि बालू खनन से नदी 05 फिट गहरी हो गई। सुखाड़ है , चापाकल फेल। गरीब गंदा पानी पीने को मजबूर। एनजीटी के मना करने पर भी बालू का खनन हो रहा है। बालू की अवैध ढुलाई से सड़कें खराब हो रही है। उन्होंने कहा कि जीतन के 'हम' को विलय करने की साजिश रची गई। हमें सुविधाओं की बात कहकर प्रलोभन दिया गया। हम खूंटा की तरह खड़े हैं , छोड़ेंगे नहीं।


उन्होंने कहा कि जिसने नीतीश को पलटू कहा , घोटाला किया उसी से गले मिला रखे हैं। हम मिलने वाले नहीं हैं। जमुई की भीड़ नीतीश कुमार देख लें , कपार ठोकना पड़ेगा। नीतीश कुमार ने बहुत अन्याय और अनर्थ किया है। जमुई की भीड़ देखकर नीतीश कुमार को तरेगन छूटने लगेगा। अपराध और दुष्कर्म बढ़े हैं। जनता तबाही के दौर से गुजर रही है।


पूर्व सीएम मांझी ने कहा कि मोदी जी ने मुझे काफी सम्मान दिया है। देश के लिए बेहतर काम कर रहे हैं। 508 स्टेशन के लिए करोड़ों रुपया दिया है। पीएम गरीब के बारे में सोचते हैं। नीतीश को सत्ता चाहिए। 4200 करोड़ से गंगाजल। पीने को पानी नहीं और तर्पण पर इतना खर्च। विधवा को पेंशन के रूप में 01 हजार मिलाना चाहिए।



जीतन राम मांझी ने यह भी कहा कि पटना का म्यूजियम फिजूलखर्ची है। कोर्ट ने भी टिप्पणी की है। 221 करोड़ में बना है। नए म्यूजियम को लेकर 371 करोड़ का अंडरपास बन रहा है। यह भी फिजूलखर्ची है।


उन्होंने कहा कि किशनगंज में पुल ढह गया। एस्टीमेट घोटाला चल रहा है। सुल्तानगंज में पुल गिरा। जमुई के सोनो में पुल बह गया। नीतीश को अब विदा करने का वक्त आ गया है। जेपी का नारा लगाना होगा कि सिंहासन खाली करो कि जनता आती है...। पत्रकार गरीब बिरादरी में आते हैं। इन्हें पेंशन मिलनी चाहिए। इनके लिए मैंने पत्रकार बीमा योजना लागू किया। उन्होंने जनता को संगठित रहने का संदेश देते हुए कहा कि अगामी लोकसभा चुनाव में एनडीए प्रत्याशी को भारी बहुमत से विजयी बनाना है।


हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह बिहार सरकार के पूर्व मंत्री संतोष कुमार मांझी , सिकंदरा विधायक सह राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रफुल्ल कुमार मांझी , प्रदेश अध्यक्ष सह विधायक अनिल कुमार , विधायिका ज्योति देवी आदि ने भी गरीब जगाओ आम सभा को संबोधित किया और जीतन राम मांझी के नेतृत्व में पूर्ण आस्था प्रकट की।


हम के जिलाध्यक्ष दामोदर कुमार ने सभा की अध्यक्षता की जबकि इस अवसर पर नवादा जिलाध्यक्ष अशोक कुमार मांझी , सुरेंद्र मांझी , पवन कुमार , समीरउद्दीन , विकास सिंह , सुनील कुमार आदि लोग उपस्थित थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ