विजयादशमी पर अगर दिख जाए ये पांच चीजें तो समझ लें चमकने वाली है किस्मत

धर्म एवं आध्यात्म | अपराजिता (4 अक्टूबर) : बुराई पर अच्छाई और असत्य पर सत्य की जीत का पर्व दशहरा पूरे देश में धूमधाम से मनाया जा रहा है. आज के दिन किसी भी कार्य की शुरुआत करना शुभ माना जाता है. ऐसे में कुछ चीजें ऐसी भी हैं, जो संकेत देती हैं, कि आप आपकी किस्मत चमकने वाली है. ऐसी ही एक पक्षी है, ​जो आपको आज के दिन दिख जाए, तो समझ लीजियेगा, कि आपके दिन अब बदलने वाले हैं.

अश्विन मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को आज दशहरा का पर्व मनाया जा रहा है.  इस दिन शस्त्र पूजन किया जाता है, तो वहीं शाम के समय रावण का दहन होगा. मान्यताओं अनुसार इस दिन भगवान राम ने रावण का वध किया था और लंका पर विजय प्राप्त की थी.

आज के दिन किए जाने वाले कार्यों का फल शुभ होता है. ऐसे में आपके जीवन में कुछ अच्छा होने वाला है, इसके संकेत भी आपको पहले से ही मिलने लगते हैं. आज के दिन यदि आपको एक विशेष पक्षी के अलावा कुछ ऐसी चीजें दिख जाएं, तो अमूमन नहीं दिखाई देती हैं, तो समझ लीजिये आपका शुभ समय शुरू होने वाला है. 

1. नीलकंठ पक्षी :
नीलकंठ पक्षी अमूमन दिखाई नहीं देता है. हालांकि कभी-कभी ये दिख भी जाए, तो इसका दिखना शुभ माना जाता है. वहीं यदि दशहरा के दिन ये पक्षी दिख जाए, तो समझ लें, कि आपके लिए अत्यंत शुभ संकेत है. आपके अच्छे दिन शुरू होने वाले हैं.  भगवान राम ने इस पक्षी को देखने के बाद ही रावण को पराजित किया था. नीलकंठ पक्षी को भगवान शिव का ही रूप माना जाता है. 

2. जल में तैरती हुई मछली :
विजय दशमी पर जल में तैरती मछली के दर्शन को बड़ा शुभ माना गया है. अगर किसी नदी या तालाब के नजदीक से गुजरते हुए आपको पानी में तैरती मछलियां नजर आ जाएं तो समझ लीजिए आपका भाग्य चमकने वाला है. ये आपके जीवन से तमाम संकटों के दूर होने का संकेत है.

3. गिलहरी :
इस दिन गिलहरी का दिखना भी शुभ माना जाता है. मान्यता है कि गिलहरी को भगवान श्रीराम का आशीर्वाद प्राप्त है. इसलिए यदि गिलहरी आपको दिखाई देती है, तो ये भी आपके जीवन में खुशहाली का संकेत है. 

4. जरूर खायें पान :
दशहरे के दिन पान खाने का भी विशेष महत्व होता है. इस दिन श्रीराम भक्त हनुमान को पान चढ़ाने से मन की मुरादें पूरी होती हैं. दरअसल पान को विजय का सूचक  माना गया है. पान का बीड़ा शब्द का एक महत्व यह भी है इस दिन हम सन्मार्ग पर चलने का संकल्प लेते हैं. 

5. मंदिर जाएं :
विजय दशमी को यात्रा तिथि भी कहते हैं. अपने गांव या शहर से कहीं दूर यात्रा करते हुए भगवान के मंदिर में देव दर्शन करना भी इस दिन शुभ माना गया है. आप भगवान राम या भगवान शिव के किसी भी मंदिर में जाकर उनके दर्शन कर सकते हैं.

Post a Comment

Previous Post Next Post