जमुई : जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में डीएम ने दिए चेकिंग अभियान चलाने के निर्देश

जमुई (Jamui), 29 सितंबर : जिला कलेक्टर अवनीश कुमार सिंह की अध्यक्षता में समाहरणालय के संवाद कक्ष में जिला सड़क सुरक्षा समिति की अहम बैठक आहूत की गई , जिसमें वाहन दुर्घटना पर नियंत्रण किए जाने के लिए यथोचित प्रयास किए जाने का निर्णय लिया गया।

डीएम ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि सड़क हादसा टालने के लिए सघन चेकिंग अभियान चलाएं। मुहिम के अंतर्गत हेलमेट और सीटबेल्ट की जांच करें। यातायात नियमों को लेकर जिलावासियों को सजग और सचेत करने की जरूरत है।

आमजनों के साथ स्कूल - कॉलेज  के बेटे और बेटियों को भी यातायात के नियमों से वाकिफ कराएं और उन सभी का इस मामले में क्षमतावर्धन कर मार्ग दुर्घटना को नियंत्रित करने में उनसे वांछित सहयोग लें। स्कूल वाहन का परिचालन सरकार के गाइडलाइंस के मुताबिक किया जाना चाहिए। बसों और हल्के वाहनों में बच्चों को ओवरलोड न करें।
समाहर्त्ता ने कहा कि मानव जीवन अमूल्य है। दुर्घटनाओं से होने वाली मौतों को रोकने के लिए सामुहिक प्रयास किया जाना चाहिए। इसके लिए दुर्घटनाओं वाले स्थानों को चिन्हित कर मार्किंग एवं जेब्रा बनाएं। दुकानदार सड़क दुर्घटना को नियंत्रित करने के लिए खुले में दुकान लगाने से परहेज करें।

उन्होंने आमजनों से अपील करते हुए कहा कि सड़क हादसे में घायल लोगों को चिकित्सा के लिए अस्पताल पहुंचाएं। इस कार्य में संलग्न लोगों को चिंहित कर उन्हें गुड सेमेरिटन से सम्मानित किया जाएगा। डीएम ने घर से निकलने के साथ ही जागरूक रहने का संदेश दिया।
पुलिस अधीक्षक डॉ. शौर्य सुमन ने इस अवसर पर कहा कि सड़क दुर्घटना रोकने के लिए रोड साइड की मार्किंग करने , साइनेज लगाने, जहाँ ग्रामीण मार्ग नेशनल हाईवे से मिलते हैं वहां प्रकाश की व्यवस्था करने, पहुँच मार्ग तथा स्पीड ब्रेकर बनाने की जरूरत है। वाहन की गति भी नियंत्रित हो इसका ख्याल किया जाना चाहिए।

उन्होंने अतिसंवेदनशील एवं दुर्घटना संभावित क्षेत्रों में पुल के दोनो साईड स्पीड ब्रेकर और स्पीड गवर्नर लगाए जाने पर बल देते हुए कहा कि सड़क दुर्घटना को रोकना हमारी प्राथमिकता है।

डीटीओ कुमार अनुज ने सुप्रीम कोर्ट के गाइडलाइंस के मुताबिक स्कूल बसों की फिटनेस तय किए जाने के साथ सड़क सुरक्षा से सम्बंधित नियमों की विस्तार से चर्चा की और डीईओ से इसका अनुपालन कराए जाने का अनुरोध किया।
उन्होंने व्यवसायिक चालकों का नेत्र परीक्षण तथा हेल्थ चेकअप शिविर का आयोजन किए जाने की जानकारी देते हुए कहा कि ऑटो के दस्तावेज एवं आपाधापी पर निगरानी किए जाने की जरूरत है। कुमार अनुज ने वाहन परिचालन के लिए परमिट को अनिवार्य करने, ओवर लोड ऑटो पर खास निगाह रखने, स्पीड पर ध्यान रखने, ऑटो  का बीमा सुनिश्चित कराने आदि का ऐलान किया।

सिविल सर्जन डॉ. अजय कुमार भारती, डीईओ कपिलदेव तिवारी, जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी आर के दीपक, डीएसपी मुख्यालय अभिषेक सिंह, कार्यपालक अभियंता आलोक कुमार ठाकुर, ऑक्सफोर्ड पब्लिक स्कूल के प्रतिनिधि कृष्ण मोहन सहाय, मणिद्वीप एकेडमी के निदेशक बी. अभिषेक, सैनिक स्कूल के प्राचार्य जयप्रकाश सिंह समेत कई स्कूलों के प्रतिनिधियों ने बैठक में हिस्सा लिया और सड़क हादसा को रोकने में हर संभव सहयोग दिए जाने की बात कही।

Post a Comment

Previous Post Next Post