Breaking News

खैरा : मांगेचपरी में अपराधियों ने किशोर को किया अगवा, बमबारी कर फैलाई दहशत

खैरा/जमुई (Khaira/Jamui), 27 अगस्त
● प्रह्लाद की रिपोर्ट
खैरा थाना क्षेत्र के झुंडो पंचायत (Jhundo Panchayat) अंतर्गत मांगेचपरी (Mangechapri) गांव में बीते गुरुवार देर रात अपराधियों ने एक 13 वर्षीय किशोर को अगवा कर लिया. इस दौरान अपराधियों ने बमबारी कर पूरे गांव में दहशत फैलाई. घटना के बाद अगवा किशोर के परिजन दहशत में हैं और उन्होंने पुलिस (Police) से मामले में कार्रवाई की गुहार भी लगाई है. 

जानकारी के अनुसार बीते गुरुवार देर रात अपराधियों ने गांव निवासी शैलेंद्र सिंह (Shailendra Singh) के 13 वर्षीय पुत्र अरुण कुमार (Arun Kumar) को अगवा कर लिया. मामले की सूचना पाकर प्रभारी थानाध्यक्ष एके आजाद शुक्रवार सुबह मांगेचपरी गांव पहुंचे और उन्होंने घटना की छानबीन की. 

घटना के बाबत अगवा अरुण की मां विभा देवी (Vibha Devi) ने बताया कि बीते गुरुवार (Thursday) देर रात हम सब घर में सो रहे थे. रात लगभग 1:00 बजे करीब 8 से 10 की संख्या में अपराधी घर की चारदीवारी फांद कर घुस गए. इसके बाद मेरी साड़ी से मेरा मुंह बंद कर दिया. इस दौरान बदमाशों ने अपने पिता के साथ सो रहे अरुण को उठा लिया और साथ ले जाने लगे.

विरोध करने पर उन्होंने हम दोनों के साथ मारपीट भी की. और कमरे में घुसकर वहां रखे बक्से का ताला तोड़कर बेटी का कीमती जेवरात आदि ले कर जाने लगे. इस दौरान मैंने बदमाशों से अपने पुत्र को छोड़ने की गुहार लगाई. पर उन्होंने मेरी एक ना सुनी और बमबारी करने लगे तथा मेरे पुत्र को अपने साथ ले गए. महिला ने बताया कि उन बदमाशों में गांव निवासी चमरू रजक, उसका पुत्र डब्लू रजक, बबलू रजक के अलावे सीताराम रजक, श्री रजक सहित कई अन्य लोग शामिल थे.

बताते चलें कि बीते रविवार को फसल चराने के विवाद में गांव के चमरू रजक के पुत्र डब्लू और बबलू से अरुण का झगड़ा हुआ था. जिसके बाद चमरू ने घर आकर अंजाम भुगतने की धमकी भी दी थी और अब अरुण कुमार को अगवा कर लिया गया है. इधर शुक्रवार सुबह थानाध्यक्ष एके आजाद जब मामले की जांच करने पहुंचे तब उन्होंने घटनास्थल से बम का अवशेष भी बरामद किया है.

प्रभारी थानाध्यक्ष एके आजाद ने इस बाबत पूछे जाने पर बताया कि मामले की जानकारी लिखित आवेदन के माध्यम से दी गई है. जिसके बाद प्राथमिकी दर्ज कर मामले में अग्रसर छानबीन की जा रही है. इधर अपने छोटे पुत्र के अपहरण होने के बाद परिजनों में भय का माहौल है और लोग किसी अनहोनी की आशंका से सहमे हुए हैं. परिजनों ने अरुण कुमार के जल्दी और सकुशल रिहाई की मांग की है.