Breaking News

बरहट : कटौना में विकास शिविर आयोजित, 18 काउंटरों पर आए आवेदन

बरहट/जमुई (Barhat/Jamui), 6 अगस्त : शनिवार को प्रखंड के कटौना पंचायत के प्लस टू हाई स्कूल के मैदान में ग्राम विकास शिविर का आयोजन किया गया। शिविर की शुरुआत में सर्वप्रथम स्कूली बच्चों के द्वारा स्वागत गान व नृत्य कर अथितियों का स्वागत किया।

तत्पश्चात डीएम अवनीश कुमार सिंह, डीडीसी शशि शेखर चौधरी, अनुमंडल लोक निवारण पदाधिकारी मो.शफीक, प्रखंड प्रमुख रुबेन कुमार सिंह, बीडीओ चंदन कुमार एवं ग्राम पंचायत राज कटौना के मुखिया कपिलदेव प्रसाद ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर विकास शिविर का शुभारंभ किया। शिविर के माध्यम से आम लोगों की समस्याओं से संबंधित विभागीय अधिकारी रूबरू हुए और कई मामलों का निपटारा ऑन द स्पॉट किया गया।
डीएम अवनीश कुमार सिंह ने कहा कि सरकार द्वारा चलाई जा रही जन कल्याणकारी योजनाओं को क्रियान्वयन करने के लिए ग्राम विकास शिविर का आयोजन किया गया है। इसमें विकास कार्यों की समीक्षा, जनता समस्याओं का निपटारा यानी कुल मिलकाकर प्रशासन को घर तक लाने का प्रयास किया जा रहा है।

डीडीसी शशिशेखर चौधरी ने शिविर के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए कहा कि गांव के विकास को गति प्रदान करना तथा लोगों को लाभकारी योजनाओं की जानकारी के साथ-साथ अहर्ताधारी व्यक्तियों को लाभान्वित करना इसका उद्देश्य है।
प्रखंड प्रमुख रुबेन कुमार सिंह ने कहा कि सरकार के द्वारा कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी नहीं रहने से कई लाभुक लाभ लेने से वंचित रह जाते हैं। इस प्रकार की विकास शिविर महीने में अलग-अलग पंचायतों में भी लगाना चाहिए, जिससे लोगों को योजनाओं का लाभ मिल सके।

● अलग अलग 18 काउंटर बनाये गए थे
डीएम अवनीश कुमार सिंह व अन्य अधिकारियों ने बारी-बारी से सभी काउंटर का निरीक्षण किया। प्लस टू उच्च विद्यालय मलयपुर के कैंपस में मनरेगा योजना के तहत पौधारोपण भी किया। साथ ही कई लाभुकों के बीच डीएम ने हरे व नीले रंग के डस्टबिन का भी वितरित किया।
साथ ही प्लस टू हाई स्कूल के मैट्रिक व इंटर में सफल छात्राओं को डीएम ने सम्मानित कर हौसला अफजाई की। जीविका के द्वारा समाज सुधार अभियान का फोल्डर का वितरण जीविका दीदियों के बीच देने का शुभारंभ किया गया।

शिविर में मनरेगा, राजस्व विभाग, स्वास्थ्य विभाग, सामाजिक पेंशन विभाग, शिक्षा विभाग, आईसीडीएस, जीविका, पंचायती राज, आपूर्ति विभाग, कृषि विभाग आदि के 18 अलग-अलग काउंटर बनाए गए थे। शिविर में 25 सर्वाधिक 25 आवेदन आपूर्ति काउंटर में मिला। अन्य 17 काउंटरों पर 23 आवेदन प्राप्त हुआ।