Breaking News

जाति जनगणना को लेकर लोगों के बीच जागरूकता अभियान चलाएंगे जदयू प्रवक्ता प्रगति मेहता



पटना। जदयू के प्रदेश प्रवक्ता प्रगति मेहता ने जातीय गणना कराने के सरकार के फैसले का भरपूर समर्थन करते हुए कहा कि इस संबंध में वह बिहार के विभिन्न जिलों का दौरा कर लोगों को जागरूक करेंगे। लोगों से सही-सही अपनी जाति और आर्थिक स्थिति बताने की अपील करेंगे। खासकर अतिपिछड़े वर्ग के धानुक जाति के बहुलता वाले जिले में जाकर लोगों को जागरूक करने की जरूरत है।


जदयू प्रवक्ता ने कहा कि बिहार में अपने संसाधन से जातीय गणना कराने का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का निर्णय ऐतिहासिक है। जाति की गणना होने से सभी जाति के लोगों की संख्या का पता चलेगा। साथ ही आर्थिक सर्वेक्षण होने से आर्थिक हालात की जानकारी मिलेगी। पूरा डाटा आने के बाद सरकार को निचले पायदान पर रह गए लोगों को आगे लाने में सहूलियत होगी। उनके विकास के लिए योजनाएं बनाई जाएंगी।


श्री मेहता ने कहा कि बिहार के कम से कम 14-15 ऐसे जिले हैं जहां अतिपिछड़े वर्ग में आने वाले धानुक जाति की बहुलता या प्रमुखता है। लेकिन यह विडंबना ही है की कुछ जिले ऐसे हैं जहां धानुक जाति के लोग अपने को धानुक बोलने से परहेज करते हैं। यदि गणना में भी वह अपनी सही जाति नहीं लिखवाएंगे तो सब गड़बड़ हो जाएगा।


उन्होंने कहा कि इसी जागरूकता अभियान के तहत वह कुछ अन्य धानुक और अतिपिछड़े वर्ग के नेताओं के साथ जल्द ही बिहार के विभिन्न जिलों का दौरा करेंगे। शीघ्र ही पटना में एक बैठक कर कार्यक्रम की घोषणा कर दी जाएगी।