Breaking News

गिद्धौर : दिग्विजय सिंह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में रोगी कल्याण समिति की हुई बैठक

गिद्धौर/जमुई (Gidhaur/Jamui), 1 मई
◆ रिपोर्ट : विक्की कुमार
◆ Edited by: Aprajita
 दिग्विजय सिंह समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गिद्धौर में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ.अजिमा निशात के अध्यक्षता में रोगी कल्याण समिति सदस्यों की एक बैठक बीते शुक्रवार को आयोजित की गई।

रोगी कल्याण समिति के अध्यक्ष डॉ. अजिमा निशात सचिव डॉ प्रदीप कुमार, समिति सदस्य प्रखंड प्रमुख पंकज कुमार, पूर्व प्रमुख श्रवण यादव, पतसंडा मुखिया कला देवी, बच्चू यादव, अमित कुमार, डॉ. हंस पाठक, प्रियदर्शनी, केदार ताँती, दिलीप रविदास आदि बैठक में उपस्थित थे। बैठक में उपस्थित सभी सदस्यों ने कई प्रस्ताव पारित किये।
 
समिति के सचिव डॉ प्रदीप कुमार के द्वारा एक पत्र जमुई विधायक श्रेयसी सिंह द्वारा समिति को पूर्ण गठन के लिए अवगत कराया गया। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को पत्रांक TM/04/2022/0001 द्वारा अवगत कराया गया यह प्रस्ताव विलोपित किया गया। 

सर्वसम्मति से वही प्रभारी के द्वारा कहा गया कि अगर  दिग्विजय सिंह समुदायिक केंद्र में प्रसव कहीं भी हो जाए तो उसका एंट्री नहीं होगा। वही बिना रजिस्टर किए मरीज की भर्ती नहीं होगी। आयुष चिकित्सक अंग्रेजी पद्धति से इलाज कर सकते हैं। यह सवाल समिति के सदस्य श्रवण कुमार द्वारा पूछा गया। रोगी कल्याण समिति के सदस्य डॉ हंस कुमार पाठक द्वारा यह प्रश्न उठाया गया कि क्या आयुष चिकित्सा इमरजेंसी या नाइट ड्यूटी कर सकता है या नहीं। 

प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ग्राम पंचायत सेवा वार्ड नंबर 14 में आशा पद पर 2021 में गलत तरीके से बहाल किया गया। बहाल किए गए आशा का ग्राम सभा में रजिस्टर स्थापित छाया प्रति प्रखंड प्रमुख को उपलब्ध कराया जाए। 

इस बैठक में गर्भवती एवं प्रसूता पर कार्य में चिकित्सक कर्मियों द्वारा लापरवाही एवं मनमानी करने पर बुलाई गई थी। जिसमें सर्वसम्मति से निर्णय हुआ कि आगे से मरीजों के इलाज में किसी भी तरह की लापरवाही मनमानी अनियमितता और कदाचार पर समिति उनके कार्य पद्धति का उल्लेख करते हुए आवश्यक एवं अनुशासन कार्रवाई के लिए भेज दी जाएगी। एक सप्ताह के अंदर 18/8/2021 से लेकर 24/4/2022 तक समिति में की गई बैठक का अनुपालन कर सभी सदस्यों को सूचित कर दिया जाएगा। इसे 15 दिनों में सूचित किया जाएगा ।सूची प्रखंड प्रमुख के द्वारा सभी सदस्यों को उपलब्ध कराने का भी सुझाव दिया गया।