Breaking News

गिद्धौर : उत्क्रमित मध्य विद्यालय बंझुलिया के सेवानिवृत्त शिक्षक अनिल कुमार मिश्रा को दी गई विदाई

गिद्धौर/जमुई (Gidhaur/Jamui), 28 फरवरी | डब्लू पंडित: गिद्धौर प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय बनझुलिया में कार्यरत शारीरिक सह सहायक शिक्षक अनिल कुमार मिश्रा को सोमवार को प्रभारी प्रधानाध्यापक रंजीत कुमार राम के देखरेख में समारोह आयोजित कर विदाई दी गई. शिक्षक अनिल कुमार मिश्र बीते 2 फरवरी 2012 से विद्यालय में कार्यरत थे और बच्चों को शारीरिक शिक्षा के साथ-साथ पठन-पाठन में अहम भूमिका निभा रहे थे.
इस अवसर पर बच्चों एवं शिक्षकों को संबोधित करते हुए शिक्षक अनिल कुमार मिश्र भावुक हो गए और उन्होंने कहा मैंने पहली बार नौकरी इसी विद्यालय में ज्वाइन किया, और मेरा सौभाग्य है कि जहां से मैंने शुरूआत की वहीं से मेरे कार्यों का समापन हुआ. यहां के बच्चों में जो मैंने प्रतिभा देखी है, जिसकी मैं जितनी भी तारीफ करूं वह कम है. यहां के विद्यालय परिवार के साथ साथ ग्रामीणों का जो प्रेम और प्यार मिला वह कभी भी नहीं भूल पाऊंगा. 

विद्यालय के प्रभारी प्रधानाध्यापक रंजीत कुमार राम ने कहा उनका कार्यकाल बहुत ही सराहनीय रहा. उन्होंने हर वक्त अपने विद्यालय के बच्चों के लिए परिश्रम कर उन्हें आगे बढ़ाने की कोशिश किए हैं.
विद्यालय के वरीय शिक्षक प्रदीप प्रभाकर ने कहा इस संसार में कार्य करने वाले का ही नाम होता है. हमारे विद्यालय के शारीरिक सह सहायक शिक्षक अनिल कुमार मिश्र ने अपने कार्यकाल में जिस तरीके से बच्चों के प्रति प्रेम बढ़ाकर जा रहे हैं, वह हमेशा हमेशा के लिए याद किया जाएगा.
वहीं विद्यालय शिक्षा समिति के पूर्व अध्यक्ष सह युवा समाजसेवी डब्लू पंडित ने कहा जब से शिक्षक अनिल मिश्र कार्यभार संभाले, तब से गांव के बच्चों में काफी बदलाव आया है. इनके जाने से विद्यालय और गांव के लिए बहुत बड़ी कमी होगी. क्योंकि अब विद्यालय में कोई शारीरिक शिक्षक नहीं है. इनका बच्चों के प्रति जो प्रेम रहा वह कभी भी भुलाया नहीं जा सकता है.

इस अवसर पर विद्यालय शिक्षा समिति के पूर्व अध्यक्ष डब्लू पंडित, प्रभारी प्रधानाध्यापक रंजीत कुमार राम, वरीय शिक्षक प्रदीप प्रभाकर, सहायक शिक्षिका विभा कुमारी, अन्नू कुमारी, टोला सेवक नारायण भुइयाँ, रसोईया गणपत रावत, उषा देवी, आयुषी कुमारी, दिव्या कुमारी, सनोज कुमार, मिथलेश कुमार, अनुज कुमार, मौसम कुमारी, अंजली कुमारी के अलावे सैकड़ों बच्चे मौजूद थे.