Breaking News

समधी बनेंगे किशोर कुणाल और मंत्री अशोक चौधरी, जाति बंधन तोड़ सायण-शाम्भवी की होगी शादी

पटना (Patna), 19 फरवरी : पूर्व आईपीएस एवं महावीर मंदिर न्यास पटना के सचिव आचार्य किशोर कुणाल और बिहार सरकार में मंत्री अशोक चौधरी समधी बनने जा रहे हैं। किशोर कुणाल के पुत्र सायण कुणाल का विवाह अशोक चौधरी की बेटी शाम्भवी से हो रही है। दोनों की सगाई गुरुवार को हुई, जिसमें बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी आशीर्वाद देने पहुंचे। विधि से स्नातक सायण कुणाल की मंगेतर शाम्भवी दिल्ली स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स से मास्टर की पढाई कर रही है।
सायण और शाम्भवी के बीच पुरानी दोस्ती रही है। हालांकि इसे अरेंज मैरेज कहा जा रहा है , लेकिन सूत्रों की मानें तो दोनों के बीच वर्ष 2017 से ही नजदीकियां बढ़ी। दोनों एक - दूसरे को पसंद करते थे और परिवार ने उनकी दोस्ती को रजामंदी दी। अब दोनों की सगाई हो गई है और संभवतः नवंबर - दिसंबर महीने में शादी सम्पन्न होगा।
(ADVERTISEMENT)
संयोग से शाम्भवी के पिता अशोक चौधरी ने भी अंतरजातीय विवाह किया था। उनका भी प्रेम प्रसंग काफी प्रचलित रहा है। दोनों ने न सिर्फ विवाह किया बल्कि आज भी अशोक और नीता चौधरी अपने प्यार के दिनों की कहानी को खूब चाव से सुनाते हैं। अब उन्हीं की तर्ज पर उनकी बेटी भी आदर्श कायम करने जा रही है। सायण और शाम्भवी भी अंतरजातीय विवाह के बंधन में बंधने जा रहे हैं।

इनके करीबियों का कहना है कि सायण और शाम्भवी की होने जा रही शादी एक सामाजिक मिसाल है। यह एक अंतरजातीय विवाह होगा जो समाज में जातीय दीवारों को तोड़ने की सीख देगा।
भूमिहार जाति से आने वाले किशोर कुणाल की घर के बहू दलित समुदाय की बेटी बनने जा रही है। अपने सार्वजनिक जीवन में दलितों के सशक्तिकरण और उन्हें सामाजिक प्रतिष्ठा दिलाने में किशोर कुणाल ने कई मील के पत्थर कायम किए हैं।
(ADVERTISEMENT)
उनकी लिखित पुस्तक " दलित देवो भवः " का प्रकाशन सूचना और प्रसारण मंत्रालय , भारत सरकार द्वारा किया गया है। इसमें भारतीय वाङ्मय में दलितों की गौरव गाथा का उल्लेख है। साथ ही बिहार की राजधानी पटना स्थित महावीर मंदिर में दलित समुदाय के व्यक्ति को पुजारी बनाने की पहल भी किशोर कुणाल ने की थी। आज तक मंदिर में यह परम्परा बरकरार है। अब किशोर कुणाल के पारिवारिक जीवन में भी जातीय दीवारों को गिराने की बड़ी पहल उनके पुत्र की शादी से साकार होने जा रहा है।