रूस-यूक्रेन युद्ध में फंसा बिहार का छात्र! वतन वापसी के लिए परेशान

पटना/बिहार/यूक्रेन (Patna/Bihar/Ukraine), 25 फरवरी | सुशांत साईं सुंदरम : रूस और यूक्रेन के युद्ध (Russia-Ukraine War) में यूक्रेन की जनता के साथ-साथ वहां रह रहे भारतीय छात्र (Indian Students) भी खौफ के मंज़र में पल-पल जी रहे हैं. यूक्रेन पर हमले के बाद रूस की सेना राजधानी कीव तक पहुंच चुकी है. जब यह खबर मीडिया के माध्यम से सामने आई तो वहां फंसे बच्चों के अभिभावकों का दिल दहल गया. उन्हीं में एक बिहार (Bihar) के सीतामढ़ी (Sitamarhi) के रहने वाले राजीव रंजन मिश्रा के पुत्र ऋषभ रंजन मिश्रा यूक्रेन में फंसे हुए हैं.

ऋषभ यूक्रेन के टर्नोपिल स्थित टर्नोपिल मेडिकल यूनिवर्सिटी में एमबीबीएस तृतीय वर्ष के छात्र ने. ऋषभ ने gidhaur.com से लाइव बात करते हुए बताया कि स्थिति भयावह होती जा रही है. चेहरे पर खौफ है और बस लग रहा कि जल्द से जल्द वतन वापसी हो.

रूस के यूक्रेन (Ukraine) पर हमले के बारे में ऋषभ ने बताया कि परसों रात हम सभी सुकून से सोये. कल सुबह उठते ही फोन आया कि रूस का अटैक हो गया है. वर्तमान स्थिति के बारे में उन्होंने बताया कि यूक्रेन हथियार नहीं डालने वाला, ऐसे में रूस सब तहस नहस कर देगा. हालांकि भारतीय दूतावास लगातार संपर्क में है और जल्द से जल्द भारत वापसी की दिशा में कारगर उपाय किये जा रहे हैं. खाने-पीने का अभी बिल्कुल होश नहीं है. बस लग रहा कि जल्द से जल्द घर पहुंच जाएं.

वहीं ऋषभ की बहन और बिहार की चर्चित लोकगायिका पल्लवी मिश्रा ने बताया कि रूस-यूक्रेन युद्ध में भाई वहां फंसा है और घर पर सभी चिंतित हैं. हमारी भी नींद गायब है और पल-पल का अपडेट ले रहे हैं. हमें बहुत चिंता हो रही है. बस लग रहा किसी भी तरह से वहां से भारतीय छात्र वापस आ जाएं. रातों की नींद गायब है. उन्होंने भारत सरकार से यूक्रेन में पढ़ाई कर रहे बच्चों को वापस लाने की अपील की है. साथ ही बिहार सरकार से भी इस दिशा में पहल करने का आग्रह किया है.

देखें वीडियो >> 



Post a Comment

Previous Post Next Post