Breaking News

पद्य पत्रिका 'लेकिन' के संपादक डॉ. विनय अश्म से पगडंडी जमुई के संगठन सचिव ने की शिष्टाचार मुलाकात

रतनपुर/गिद्धौर/जमुई (Ratanpur/Gidhaur/Jamui), 2 नवंबर : युवा लेखक-कवि व हिंदी का साहित्यिक, संस्कृतिक व बौद्धिक प्रकल्प पगडंडी जमुई के संगठन सचिव सुशान्त साईं सुन्दरम ने पद्य पत्रिका लेकिन के संपादक डॉ. विनय अश्म से रतनपुर स्थित उनके आवास पर शिष्टाचार मुलाकात की और कुशलक्षेम जाना।

इस दौरान जिले में साहित्यिक उत्थान व पुनर्जागरण पर विस्तृत चर्चा हुई। साथ ही नवोदित रचनाकारों को एकजुट कर एक प्रभावशाली मंच देने की दिशा में सार्थक प्रयास करने को लेकर मंतव्यों का आदान प्रदान किया गया।

बता दें कि डॉ. विनय अश्म लंबे समय से लेकिन नामक पद्य पत्रिका का संपादन-प्रकाशन कर रहे हैं। वे स्थानीय महाराज चंद्रचूड़ विद्या मंदिर में हिंदी विषय के शिक्षक के रूप में कार्यरत रहे।
वहीं सुशान्त साईं सुन्दरम को उनकी सामाजिक संस्था मिलेनियम स्टार फाउंडेशन  द्वारा शिक्षा, स्वास्थ, सांस्कृतिक क्षेत्रों में किये जा रहे सत्कार्यों के लिए भारतीय शौर्य सम्मान के लिए बीते दिनों नामित किया गया है। इसे लेकर विनय अश्म ने उन्हें अपनी शुभकामनाएं एवं आशीर्वाद दी।

इस शिष्टाचार मुलाकात में जहाँ सुशान्त ने विनय अश्म को श्रीमद्भागवत गीता की प्रति भेंट की, वहीं उन्होंने सुशान्त को अपनी पत्रिका लेकिन की प्रति सस्नेह प्रदान किया। इस मौके पर युवा पत्रकार अभिषेक कुमार झा मौजूद रहे।