मौरा : वार्ड नं. 4 के ग्रामीणों से दूर नल योजना का लाभ, नदी के दूषित जल से बुझा रहे प्यास

मौरा/गिद्धौर (Maura /Gidhaur) | अभिषेक कुमार झा : एक ओर जहां बिहार सरकार हर घर शुद्ध जल पहुंचाने का दावा कर रही है, तो वहीं, ग्रामीण क्षेत्रों में इन दावों की बुनियाद खोखली नजर आ रही है। इसकी बानगी गिद्धौर प्रखण्ड क्षेत्र के मौरा पंचायत अंतर्गत वार्ड 4 में देखने को मिल रही है, जहां बीते 5 दिनों से नल जल योजना ग्रामीणों की प्यास बुझाने में असमर्थता जता रहा है। आलम यह है कि, घनी आबादी वाले इस वार्ड के ग्रामीण अपनी दैनिक दिनचर्या के जरूरतों की पूर्ति के लिए नदी के दूषित जल को व्यवहार में लाने को मजबूर हैं।

मौरा वार्ड-4 के स्थानीय ग्रामीण कार्तिक झा, भोला झा, उपेन्द्र झा, गुडन झा, महेश झा आदि ने संयुक्त रूप से बताया कि नल जल योजना के बन्द हो जाने से वार्ड वासियों की परेशानी बढ़ गई है। इससे न सिर्फ पेयजल की समस्या उत्पन्न हुई है बल्कि दैनिक कार्य भी बाधित हो रहे हैं। 

इधर, ग्रामीणों की समस्या को गम्भीरता से लेते हुए मौरा पंचायत वार्ड न.4 की पंच विमला देवी ने ग्रामीणों को आश्वस्त करते हुए शीघ्र ही नल जल योजना का लाभ लोगों के लिए शुरू करवा देने की बात कही है ।
Input: Rohit Jha, Maura [Edited by: Sushant]

Post a Comment

Previous Post Next Post