Breaking News

गिद्धौर बाजार में पार्किंग नहीं, सड़कों पर वाहन खड़े होने से लगता है जाम

गिद्धौर/जमुई (Gidhaur/Jamui) | सुशांत साईं सुन्दरम : गिद्धौर बाजार में पार्किंग नहीं है. लिहाजा खरीददारी करने आने वाले ग्राहकों के वाहन सड़क किनारे और सड़कों पर ही खड़े होते हैं. इससे दिनभर जाम की स्थिति बनी रहती है. सबसे ज्यादा परेशानी एनएच-333 पर बने बैंकों के सामने खड़े होने वाले वाहनों के कारण होती है. वहीं नियम के मुताबिक सभी बैंक शाखाओं के पास पार्किंग की व्यवस्था होनी चाहिए.

गिद्धौर के लॉर्ड मिंटो टावर चौक को पूरे प्रखंड का लाइफ लाइन माना जाता है. पूरा बाजार इस चौक के इर्द-गिर्द ही है. झाझा-गिद्धौर-जमुई को जोड़ने वाले एनएच-333 इसी रास्ते होकर निकलता है. दुकान, बैंक, डाक घर, थाना, प्रखंड व अंचल कार्यालय सब कुछ एनएच-333 के किनारे ही अवस्थित है. इन स्थानों पर आने वाले अधिकारी व उपभोक्ता सड़क पर ही अपने वाहन खड़े करते हैं. इससे इस रास्ते गुजरने वाले वाहनों के लिए रास्ता भी कम बचता है. नतीजतन जाम लग जाता है. समस्या आज की नहीं बल्कि कई वर्षों से है. गाहे-बगाहे प्रशासन की तरफ से अवैध पार्किंग के खिलाफ एक्शन तो लिया जाता है, लेकिन मामला फिर जस-के-तस ही हो जाता है. सड़क पर वाहन खड़े कर दिए जाते हैं और 20 फीट की सड़क 10 फीट में ही सिमट कर रह जाती है.

गिद्धौर में एनएच-333 के लॉर्ड मिंटो टावर चौक पर काम्प्लेक्स मार्केट, बैंक एवं आगे बढ़ने पर डाकघर व थाना  के पास पार्किंग की व्यवस्था नहीं है. जिस वजह से इनके सामने अवैध पार्किंग जाम का कारण बनती हैं. फुटपाथ से सटाकर कतारों में गाड़ियों को खड़ा कर दिया जाता है. दुपहिया वाहनों के लिए यहां जगह नहीं होती और वे काम्प्लेक्स मार्केट, बैंकों व डाकघर के सामने ही सड़क पर अपने वाहन खड़े करते हैं. एक बाइक के पीछे दूसरी बाइक खड़ी कर दी जाती है और बाइक का जमावड़ा इन स्थलों के सामने लगा होता है. ऐसे में आगे पार्क की गई गाड़ी को पीछे पार्क की गई गाड़ी के चलते बाहर निकलने में असुविधा होती है और रोड पर जाम की स्थिति पैदा हो जाती है. लेकिन रोड पर दूसरे वाहन चालकों को होने वाली परेशानियों से काम्प्लेक्स मार्केट के ओनर, बैंक एवं डाकघर प्रबंधकों को कोई सरोकार नहीं है.