Breaking News

खैरा : कृषि कानून को निरस्त करने के लिए बैठक आयोजित



Khaira / खैरा (प्रहलाद कुमार) :-


 भारत सरकार द्वारा लाए गए तीनों कृषि कानून एवं चारों संहिता को निरस्त करने को लेकर एक बैठक रायपुरा में आयोजित की गई , जिसकी अध्यक्षता कामरेड कैलाश सिंह ने की।  बैठक में निर्णय लिया गया पार्टी के सभी सदस्य एवं किसान संगठन के लोग 27 तारीख को जमुई चलेंगे । उक्त बैठक में एकमत  होकर समान विचारधारा के लोगों के साथ मिलकर पंचायत चुनाव लड़ने की बातों पर भी चर्चा की गई । बैठक को संबोधित करते हुए जिलामंत्री का  नवल किशोर सिंह ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार सभी सरकारी तंत्र का दुरुपयोग करते हुए तमाम जनविरोधी नीतियों को लागू कर रही है । रेलवे सहित कई सरकारी उपक्रमों को पूंजीपतियों के हाथों में बेच रही है । महंगाई भ्रष्टाचार से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए मोदी सरकार संप्रदायिक एजेंटों को आगे ना रही है।  बैठक में महिलाओं सहित लगभग 400 लोगों ने इस बैठक में उपस्थित थे ।  इस मौके पर कामरेड गजाधर रजक , जयप्रकाश रावत , रामदयाल यादव,  सूर्य मोहन रावत,  सुभाष यादव,  देवेंद्र कुमार,  रूपेश्वरी देवी सहित कई  लोग मौजूद रहे । 


Edited by : Abhishek Kr. Jha

#Khaira, #Meeting, #GidhaurDotCom

So


Sono/सोनो :- | प्रखण्ड मुख्यालय में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर नामांकन के पहले दिन शनिवार को कुल175 प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल किया। इस बाबत जानकारी देते हुए प्रखंड विकास पदाधिकारी व प्रखंड निर्वाची पदाधिकारी ने बताया कि नामांकन के प्रथम दिन कड़ी सुरक्षा के बीच शांतिपूर्ण तरीके से नामांकन हुआ। जिसमें कि प्रखंड के कई पंचायत से मुखिया पद के लिए कुल 10 प्रत्याशी जिसमें कि पुरुष 04महिला06 सरपंच पद के लिए कुल 08जिसमें पुरूष07महिला01पंचायत समिति सदस्य पद के लिए कुल09पुरूष02 महिला 07ने नामांकन दाखिल किया। वही वार्ड सदस्य पद के लिए कुल117पुरूष58 महिला59 प्रत्याशी ने नामांकन दाखिल किया। बताते चलें कि सोनो प्रखंड के 19 पंचायतों में चतुर्थ चरण के लिए 20 अक्टूबर को मतदान होना है।जिसके लिए शनिवार से नामांकन शुरू हो गया। वहीं सभी प्रत्याशियों ने अपने समर्थकों के साथ नामांकन पर्चा दाखिल किया। हालांकि प्रवेश द्वार पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। जिससे कि प्रत्याशियों के साथ केवल प्रस्तावक को ही साथ में अंदर जाने की अनुमति दी जा रही थी।नामांकन के पहले दिन सुरक्षा बलों ने पैनी नजर बनाए थे।नामांकन के पहले दिन प्रखंड मुख्यालय के परिसर व बाहर किसी भी प्रकार का घटना घटित ना हो इसके लेकर थाना गेट से लेकर प्रखंड मुख्यालय तक सुरक्षाबलों के जवानों मुस्तैद थे। इस दौरान सुरक्षा बलों ने एकत्रित भीड़ को खदेड़ते नजर आ रहे थे।